शेर सिंह की मौत कच्ची शराब से नहीं हुई...CM के गृह जिले के कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने संयुक्त रूप से बताया / Madhya_Pradesh

शेर सिंह की मौत कच्ची शराब से नहीं हुई...CM के गृह जिले के कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने संयुक्त रूप से बताया

www.lionnews.in

भोपाल। विदिशा जिले की कुरवाई तहसील के ग्राम भगोदा गांव के 40 वर्षीय शेर सिंह पुत्र प्यारेलाल की मौत कच्ची शराब पीने के कारण होने संबंधी खबर जांच में पूर्णत: निराधार साबित हुई है। कलेक्टर विदिशा ने प्रकरण में सूक्ष्मता से जांच कराई है। उक्त प्रकरण की समुचित जांच पुलिस एवं कार्यपालिक मजिस्ट्रेट से कराई गई है डाक्टरो से पोस्टमार्टम (पीएम) रिपोर्ट प्राप्त की गई है ग्राम लायरा एवं आस-पास के दो-तीन गांव में सर्वेक्षण कराया गया है। जिला आबकारी अधिकारी से प्रतिवेदन भी प्राप्त किया गया है।

इसे भी पढ़ें:-  "सू-बू वाल दोस्तो  कर् मा...अन्नदाताओ  पूंज सा"...कौ  रह सरका  वा

 केंद्रीय मंत्री से मिले रामेश्वर शर्मा...जानियें फिर क्या हुआ...

 

राष्ट्रीय कैनो मैराथन में मध्य प्रदेश को मिले, 6 स्वर्ण, 3 रजत और 2 कांस्य पदक

कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ पंकज जैन तथा पुलिस अधीक्षक विनायक वर्मा द्वारा मामले की वस्तुस्थिति तथा जांच में उल्लेखित तथ्यों के बारे में संयुक्त रूप से बताया गया है कि श्री शेर सिंह पुत्र प्यारेलाल राजपूत निवासी ग्राम भगोदा की मृत्यु 17 जनवरी को हुई है । श्री शेर सिंह को मृत अवस्था में ही सामुदायिक केन्द्र कुरवाई लाया गया था, डाक्टर द्वारा उन्हें मृत प्रमाणित कर पोस्टमार्टम कर दिया गया। मृतक की पुत्री मोहिनी, पत्नि श्रीमती ब्रजेश राजपूत के कथन लिए गए है जिसके अनुसार मृतक की पुत्री एवं पत्नी ने बताया कि मृतक का गत दो वर्षो से इलाज चल रहा था। इससे प्रमाणित होता है कि मृतक दो वर्षो से बीमार था। मृतक की पुत्री पत्नि एवं ग्रामवासियों ने पंचनामा में बताया कि मृतक की पिछले एक माह से तबीयत खराब थी, उन्हें उल्टी-दस्त हो रहे थे, खाना पीना भी बंद था। पिछले पांच-छह दिनो से घर से बाहर भी नही गए थे। उन्हें चलने फिरने में चक्कर आते थे, इस प्रकार मृतक की पुत्री तथा पत्नि एवं ग्रामवासियों के पंचनामा अनुसार मृतक के पिछले पांच - छह दिनों से शराब का सेवन नही किया था और ना ही किसी प्रकार की शराब से मृत्यु होना पाया गया है। शेर सिंह राजपूत को मृतक अवस्था में सीएचसी कुरवाई लाया गया था जिसका डाक्टर बीएल नागेश मेडिकल आफीसर, सीएचसी कुरवाई द्वारा पीएम किया गया एवं शार्ट पीएम रिपोर्ट में मृत्यु का कारण कार्डियों रेस्पेरेटरी फैलुअर (हृदय गति रूक जाना) बताया गया है एवं क्योरी की जाने पर स्पष्ट किया गया है कि मृतक के अमाशय में एल्कोहल नही था। मृतक के अमाशय से एल्कोहल की गंध नही आ रही थी। मृतक का विसरा जांच हेतु संरक्षित भी किया गया है। ग्राम भगोदा के आस-पास के ग्रामों में स्वास्थ्य संबंधी सर्वेक्षण में किसी भी प्रकार की शराब और उसके सेवन से बीमार होने के तथ्य नही पाए गए है। जिला आबकारी अधिकारी द्वारा प्रस्तुत प्रतिवेदन में भी कच्ची शराब की बिक्री ग्राम भगोदा के आस-पास के ग्रामो में नही होना पाया गया है।

/ Madhya_Pradesh      Jan 18 ,2021 15:39