/ delhi

"सूट-बूट वाले दोस्तों का कर्ज माफ...अन्नदाताओं की पूंजी साफ"...कौन कर रहा सरकार पर वार

www.lionnews.in

नई दिल्ली। कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ पिछले 50 दिनों से ज्यादा समय दिल्ली की सीमा पर किसान आंदोलन (Farmers Protest) डटे हैं। प्रदर्शनकारी किसान कृषि कानूनों को रद्द करने पर मानने को तैयार हैं। तो दूसरी ओर कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़ी कांग्रेस (Congress) ने मोदी सरकार को एक बार फिर निशाने पर लिया। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने सरकार पर कुछ पूंजीपतियों का कर्ज माफ करने का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार अन्नदाताओं की पूंजी साफ करने में लगी है।

इसे भी पढ़ें:- MLAs पा गए वैक्सीन का टीका, फ्रंटलाइन वर्कर्स को नही मिली...गर्माया विवाद

विजन और मिशन यहां हो रहे हैं साकार, रीवा सहित आठ स्थानों से ... हरी झंडी दिखाकर किया शुरु !

भोपाल में अवैध शराब जप्त, नष्ट किया गया 35 हजार किलो महुआ लहान

         राहुल गांधी ने ग्राफिक्स शेयर करते हुए ट्वीट में लिखा, "अपने सूट-बूट वाले दोस्तों का 875000 करोड़ क़र्ज़ माफ़ करने वाली मोदी सरकार अन्नदाताओं की पूंजी साफ़ करने में लगी है।" बता दें कि कृषि कानूनों के खिलाफ किसान पिछले 50 दिनों से ज्यादा समय से दिल्ली की सीमा पर डटे हैं। प्रदर्शनकारी किसान कृषि कानूनों को रद्द करने से कम पर मानने को तैयार नहीं हैं। सरकार की गतिरोध खत्म करने की अब तक की सारी कोशिशें नाकाम साबित हुई हैं. किसानों ने 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस) को दिल्ली में किसान परेड निकालने की चेतावनी दी है.

               इस बीच, सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) कृषि कानूनों और दिल्ली की सीमाओं पर किसान के प्रदर्शनों से जुड़ी याचिकाओं पर आज सुनवाई करेगा. शीर्ष अदालत गतिरोध को समाप्त करने के लिए समिति के एक सदस्य के अलग कर लेने के मामले पर भी ध्यान दे सकती है।

/ delhi      Jan 18 ,2021 05:29