कमलनाथ सरकार ने दिलाया भरोसा, नहीं निकाला जाएगा कोई भी अतिथि विद्वान नौकरी से / Madhya_Pradesh

कमलनाथ सरकार ने दिलाया भरोसा, नहीं निकाला जाएगा कोई भी अतिथि विद्वान नौकरी से

@lionnews.in

भोपाल। कमलनाथ सरकार ने भरोसा दिलाया है कि किसी भी अतिथि विद्वान को नौकरी से नहीं निकाला जाएगा। यह जानकारी कमलनाथ सरकार के 3 मंत्रियों ने पत्रकारवार्ता कर दी। 

राजधानी भोपाल के शाहजहांनी पार्क में कड़कड़ाती ठंड के साथ पिछलें कई दिनों से अतिथि विद्वानों धरने पर बैठे है। इनके साथ परिवार के सदस्य भी है। इनमें से कई महिलायें आने छोटे-छोटे बच्चों को लेकर मैदान में डटी है। गुरूवार को उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी, पीडब्लूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा और जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने पत्रकारवार्ता कर जानकारी दी कि 30 दिसंबर तक सभी अतिथि विद्वानों को कॉलेज में नियुक्ति मिलेगी। साथ ही अतिथि विद्वानों से अपील की गई है कि डॉक्यूमेंट अपडेशन और चॉइस फिलिंग करें। साथ ही मंत्रियों ने कई दिनों से धरना दे रहे अतिथि विद्वानों से आंदोलन खत्म करने की भी अपील की है। 

इस दौरान मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि अतिथि विद्वानों को बीजेपी ने प्रताड़ित किया। 15 साल में अतिथि विद्वानों को नियमित नहीं किया गया। हमने नियमित करने की प्रक्रिया के लिए नीति बनानी शुरू कर दी है। तब तक किसी भी अतिथि विद्वान को हटाया नहीं जाएगा। मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि लगातार नियुक्ति मिलेगी। आपको बता दे विपक्ष के तामाम नेता अतिथि विद्वानों के मंच पर पहुच चुके है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष पहले ही कह चुके है कि आदेश नहीं होने पर सड़कों से लेकर  विधानसभा तक इसे उठायेगें। गोपाल भार्गव ने अतिथि विद्वानों को भरोसा दिया था कि। हक की इस लड़ाई में वो अकेले नहीं हैं। बीजेपी के सभी 108 विधायक उनकी मांगों के साथ खड़े हैं। गोपाल भार्गव ने अतिथि विद्वानों के नियमितिकरण के मुद्दे को सदन से लेकर सड़क तक उठाने का ऐलान किया था।

/ Madhya_Pradesh      Dec 19 ,2019 15:21