27 साल में पहली बार बुलावा आया इसलिए भर आई सैनिको की ऑखे जानियें आखिर क्या हुआ एमपी में. . . / Madhya_Pradesh

27 साल में पहली बार बुलावा आया इसलिए भर आई सैनिको की ऑखे जानियें आखिर क्या हुआ एमपी में. . .

@lionnews.in

बड़वानी। भारत - पाकिस्तान के युद्ध में दुष्मनों के दॉत खट्टे कर देने वाले हम सैनिको को  सेवा निवृति के पश्चात् 27 साल में पहली बार किसी कार्यक्रम में बुलाया गया है, इसलिये हमारी अॉखे सजल हो गई है। विजय दिवस पर आयोजित इस कार्यक्रम के लिये राज्य शासन बधाई की पात्र है, जिसने पहली बार इतना भव्य कार्यक्रम करवॉकर हम सैनिको को मान - सम्मान दिलवाया है।

    बड़वानी जिल से सन 1971 के युद्ध में भाग लेने वाले सेवा निवृत सैनिक राधेश्याम सोनी एवं सीताराम सोनी ने उक्त बाते ‘‘ विजय दिवस ‘‘ कार्यक्रम के दौरान कही इस दौरान दोनो सैनिको ने सम्मान पाकर सजल नेत्रों से बताया कि जिस अॉखो में दुष्मन की गोलिया, गोले डर नही ला पाये वे अॉखे आज सम्मान पाकर क्यो गीली है, इसको वे शब्दो में बाया नही कर सकते है। इस दौरान सन 1971 के युद्ध लड़े भारत माता के वीर सपूत राधेश्याम सोनी एवं सीताराम सोनी ने अपनी इच्छा व्यक्त करते हुये बताया कि वे आज भी भारत माता की सेवा के लिये तैयार है। अगर आज भी देश की रक्षा के लिये उन्हें कभी बुलावा आयोगा तो वे हाथो में बन्दूक लेकर अभी भी सीमा पर जाने को तैयार है। विजय दिवस कार्यक्रम में सम्मान पाकर पूर्व सैनिको ने मंच से ही घोषणा की कि अभी तक वे अपने घर में बैठे थे। किन्तु राज्य शासन के द्वारा दिये गये सम्मान से वे पुनः अभिभूत हुऐ है। इसलिये अब वे शिक्षण संस्थानो में जाकर युवाओं को देश भक्ति का पाठ पढ़ाकर उनमें जोश भरने का कार्य निःशुल्क करेंगे।

/ Madhya_Pradesh      Dec 16 ,2019 15:12