संकट में अतिथि विद्वान, हजारों की संख्या में आ पहुचें भोपाल / Madhya_Pradesh

संकट में अतिथि विद्वान, हजारों की संख्या में आ पहुचें भोपाल

lionnews.in

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में अतिथि विद्वानों का आना सुबह से जारी है। शाम होते तक संख्या हजारों में पहुच गई है।  मुख्यमंत्री कमलनाथ सरकार के मंत्री जीतू पटवारी ने 12 तारिख के पिछलें आंदोलन में मंच से अतिथि विद्वान से कही बात ही अतिथि विद्वानों की नाराजगी का करण बन रही है।  अतिथि विद्वानों की माने तो मंत्री पटवारी ने पीएससी से आये विद्वान के साथ ही इनकी समस्या के समाधान की बात कही थी। और कांग्रेस के वचन पत्र में इनकी मांगों का पूरा करने की बात कही गई है।  अतिथि विद्वान अपनी मांग पूरी न होता देख राजधानी में आंदोलन करने को मजबूर है। अतिथि विद्वानों का कमलनाथ सरकार के विरोध में अब तक का सबसे बड़ा यह आंदोलन माना जा रहा है।

संकट में अतिथि विद्वान

    इन दिनों अतिथि विद्वान के परिवारों में रोजी रोटी का संकट है। पिछले दो दशकों से अध्यापन कार्य करने वाले अतिथि विद्वान कांग्रेस सरकार की वादाखिलाफी के विरोध में आंदोलित शाहजहांनी पार्क में करने जा रहा है। राजधानी में हजारों की संख्या में अतिथि विद्वान पहुच गयें है। अतिथि विद्वानों ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के क्षेत्र से इस आंदोलन की शुरूआत की है। वहीं प्रशासन ने अतिथि विद्वानों को आंदोलन के लिये सिर्फ तीन दिन की ही अनुमति दी है। अतिथि विद्वान अपने भविष्य की सुरक्षा के लिये भविष्य सुरक्षा यात्रा निकालते हुए भोपाल पहुच गये है। इनकी संख्या मंगलवार को दोपहर तक तीन हजार हो गई। आंदोलन में पांच हजार से अधिक अतिथि विद्वानों के राजधानी में पहुचने की सम्भाबना है।

/ Madhya_Pradesh      Dec 10 ,2019 16:59