सरपंच सचिव उपयंत्री की मिलीभगत से सर्व शिक्षा अभियान के निर्माण कार्यो में धांधली Damoh / Madhya_Pradesh

सरपंच सचिव उपयंत्री की मिलीभगत से सर्व शिक्षा अभियान के निर्माण कार्यो में धांधली

पथरिया-- प्रदेश सरकार ग्राम पंचायत के विकास के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं चला रही है व उन योजनाओं के माध्यम से लाखों रुपए स्वीकृत कर रही है जिससे ग्राम पंचायत सासा का विकास हो सके लेकिन उन्हीं ग्राम पंचायत के सरपंच-सचिव द्वारा घटिया निर्माण कार्य रुपए निकाल लिए हैं। जिसका खामियाजा स्थानीय लोगों को भुगतना पड़ रहा है।एक ही काम की कई बार राशि निकाल कर रहे,ग्राम सासा में पहले से ही सभी सरकारी जगहों में शोंचालय बने हुए हैं उसके बाद भी सरपंच ओर सचिव ने एक ओर शोंचालय के नाम पर एक लाख 34 हजार रुपये निकाले ओर गाँव के बाहर बना दिया। जहां स्वच्छता मिशन के तहत सरकार 12000 रुपये देती है तो वही सासा गाँव मे लाख रुपये से अधिक की राशि से भी निर्माण नही हो पाया। जनपद पंचायत पथरिया की ग्राम पंचायतों में निर्माण कार्यों को लेकर आये दिन कुछ न कुछ भ्र्ष्टाचार देखने को मिलता रहता है ओर जो गांव बहुत अंदर है वहा प्रशासन की अनदेखी के चलते सरपंच सचिव मनमानी करते हैं,पंचायत चुनाव जैसे-जैसे करीब आ रहे हैं, ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा की गई गड़बड़ियां सामने आती जा रही हैं। विकास कार्यों के लिए न अधिकारी गंभीर हैं, न जनप्रतिनिधि। जिस नाम ओर जगह के लिए राशि निकली वहां पहले से शोंचालय बना हुआ है ग्राम पंचायत सासा में बालक प्राथमिक शाला के नाम पर 1 लाख 34 हजार रुपये निकले गए पर शौचालय वहां नही बनाया गया है। और जहाँ शौचालय का काम चल रहा था उस ऑगनवाडी में पहले से शौचालय मौजूद है। लेकिन फिर भी एक और शौचालय ऑगनवाडी के लिए बनया जा रहा हैं। वह भी गांव और बालक प्राथमिक शाला से दो किलोमीटर दूर हैं। कौन सा बच्चा प्राथमिक शाला से दो किलोमीटर दूर शौचालय जाएगा। इस तरह की अनियमितता अधिकारियों की मिलीभगत से ही हो सकती है कई सारे रिकॉर्ड अधिकारी वर्ग के दफ्तर में होते हैं।वाबजूद इसके राशि कैसे निकाल सकते हैं।स्वछता मिशन के तहत शौचालय बनबाने में 12 हजार रूपये खर्च आता है तब फिर बालक प्राथमिक स्कूल के शौचालय निर्माण में आखिर 1लाख 34 हजार कैसे खर्च हुआ?
Damoh / Madhya_Pradesh      Nov 21 ,2019 06:56