57,000 BSNL कर्मचारियों ने दिया VRS का आवेदन, महज 4 दिन में . . . जानिए कारण / delhi

57,000 BSNL कर्मचारियों ने दिया VRS का आवेदन, महज 4 दिन में . . . जानिए कारण

 

@lionnews.in

भोपाल। दूरसंचार विभाग ने भारत संचार निगम लि. (बीएसएनएल) के 57,000 कर्मचारियों ने एक साथ महज चार दिन में वीआरएस का आवेदन दिया है। करीब 1.50 लाख कर्मचारी बीएसएनएल में अपनी सेवा दे रहे है। भारत संचार निगम लि. में करीब एक लाख कर्मचारी ऐसे है जो वीआरएस के दायरे में आते हैं। वीएसएनएल को उम्मीद है की 77,000 कर्मचारी वीआरएस का लाभ उठाएंगे। अगर ऐसा होता है तो भारत संचार निगम लि. में कर्मचारियों की संख्या आधी हो जाएगी।

      दूरसंचार विभाग ने भारत संचार निगम लि. (बीएसएनएल) को व्यापार खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में टेलीफोन एक्सचेंज की व्यवस्था सुचारू बनाये रखने तथा परिवर्तन के दौर को सुगम बनाये रखने के लिये उपाय करने को कहा है। स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) को कंपनी के करीब आधे कर्मचारियों द्वारा अपनाये जाने की संभावना के बीच यह बात कही गयी है। फिलहाल परिवर्तन अवधि के लिये विभिन्न विकल्पों पर विचार किया जा रहा है। दूरसंचार विभाग के एक सूत्र ने पीटीआई भाषा से कहा कि मामले पर तत्काल ध्यान देने की जरूरत है और वीआरएस योजना के कारण एक्सचेंज के रखरखाव तथा अन्य कार्यों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ने को लेकर को लेकर बैठकें जारी हैं।

        इस बारे में संपर्क किये जाने पर बीएसएनएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक पी के पुरवार ने इस बात की पुष्टि की कि इस मामले में चर्चा शुरू की गयी है और निगम कामकाज को जारी रखने तथा उसके पुनर्गठन की योजना बना रही है। पुरवार ने कहा, ‘‘हमें सोच समझकर काम करना है। हमने आंकड़े लेना शुरू किया है३उम्मीद के मुताबिक कर्मचारी वीआरएस का विकल्प चुनते हैं, उसके बाद भी हमारे पास करीब 80,000 कर्मचारी होंगे३लेकिन यह कुल संख्या का आधा होगा। कार्य संस्कृति बदलनी होगी।दूरसंचार विभाग के सूत्र ने कहा कि कुछ काम को आउटसोर्सिंग करने में भी वक्त लगेगा। वीआरएस जनवरी से प्रभाव में आएगा। जल्दी ही समाधान निकालना होगा।

/ delhi      Nov 10 ,2019 15:40