नोटबंदी पर डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्क्रीनिंग रुकी, आयोजनकर्ताओं ने कहा- संघ से जुड़े नेताओं ने नहीं दिखाने की दी है धमकी / delhi

नोटबंदी पर डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्क्रीनिंग रुकी, आयोजनकर्ताओं ने कहा- संघ से जुड़े नेताओं ने नहीं दिखाने की दी है धमकी

@lionnews.in

दिल्ली। नोटबंदी पर बनी एक डॉक्यूमेंट्री ‘ओरु चायाक्कडकंटेरेंटे मन की बातनाम की फिल्म की  स्क्रीनिंग नहीं हो पाई। इस फिल्म में चाय बेचने वाले की संघर्ष की कहानी है। लॉयन न्यूज को मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को कथित रूप से संघ कार्यकर्ताओं के संभावित विरोध को देखते हुए इसका फिल्मांकन नहीं हो पाया। दिल्ली स्थित केरला कल्ब में मलयाली भाषा में बनी यह डॉक्यूमेंट्री को रोक दिया गया  यह कोलम में चाय बेचने वाले एक शख्स के बारे में है। नोटबंदी की वजह से यह व्यक्ति काफी फजीहत झेलता है।

देश के प्रतिष्ठित समााचर पत्र ‘द टेलीग्राफ' में छपी खबर के मुताबिक केरला क्लब के सदस्यों और आयोजकों का कहना है कि उन्हें इस इस फिल्म को नहीं दिखाने की चेतावनी दी गई थीए क्योंकिए इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को ‘खराबश् ढंग से पेश किया गया। सानू कुम्मिल की डॉक्यूमेंट्री 75 वर्षीय याहिया की जीवन गाथा को दर्शाती हैए जिसने नोटबंदी के विरोध में अपना आधा सिर मुंडवा लिया और बदले में मिले धन को जला दिया। ‘द हिंदूश् के मुताबिक डॉक्यूमेंट्री दिखाने के अलावा केरला कल्ब में मौजूदा वित्तीय संकट पर चर्चा भी होनी थी। जिसमें वरिष्ठ पत्रकार और शिक्षाविद सुकुमार मुरलीधरन के बोलने का कार्यक्रम था। ‘द हिंदूश् ने सानू कुम्मिल से टेलिफोनिक बातचीत की हैए जिसमें वह बताते हैंए कल रात मुझे आयोजकों से एक कॉल मिलाए जिसमें कहा गया कि फिल्म की स्क्रीनिंग के साथ समस्या हो सकती है। आज दोपहर उन्होंने मुझे बताया कि उनके पास संघ परिवार ;त्ैैद्ध से जुड़े स्थानीय नेताओं के फोन आए और स्क्रीनिंग रद्द करने को कहा गया। लिहाजाए हमने इसे फिलहाल के लिए रद्द कर दिया है। मैं अब दिल्ली में फिल्म की स्क्रीनिंग के लिए वैकल्पिक स्थानों की तलाश कर रहा हूं।ष् यह डॉक्यूमेंट्री केरल में काफी प्रशंसा हासिल कर चुकी है।

 

/ delhi      Sep 25 ,2019 04:25