कीटनाशक  दवाईयों के विक्रेताओं के यहाँ मारा छापा  नमूना लेकर विश्लेषण हेतु प्रयोगशाला भेजे Damoh / Madhya_Pradesh

कीटनाशक दवाईयों के विक्रेताओं के यहाँ मारा छापा नमूना लेकर विश्लेषण हेतु प्रयोगशाला भेजे

दमोह: कलेक्टर तरूण राठी द्वारा दिये गये निर्देशों के तहत एस॰डी॰एम॰ दमोह, पथरिया, हटा, तेन्दूखेड़ा, पटेरा ने एक साथ संयुक्त रूप से खरीफ 2019 बोनी के पूर्व जिले के थोक एवं फुटकर निजी विक्रेताओं के यहाँ अचानक छापा मारकर खाद्, बीज एवं कीटनाशक दवाईयों की दुकानों का आकस्मिक निरीक्षण किया गया तथा खाद्/उर्वरक के 40 नमूने, उन्नतशील बीजों के 62 नमूने एवं कीटनाशक दवाईयों के 22 नमूने लेकर परीक्षण हेतु प्रयोगशाला भेजे गए । उप संचालक, किसान कल्याण तथा कृषि विकास, बी.एल. कुरील ने बताया कलेक्टर तरूण राठी के निर्देश पर खरीफ बोनी के पूर्व जिले के सभी खाद्, बीज एवं कीटनाशक विक्रेताओं के यहाँ अचानक एस॰डी॰एम॰ की अध्यक्षता में उप संचालक कृषि, सहायक संचालक कृषि एवं विकास खण्डों में पदस्थ वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारियों के साथ संयुक्त टीम बनाकर जिले में अवैध रुप से खाद्, बीज एवं कीटनाशक विक्रेताओं के विरुद्ध वैधानिक सतत् निगरानी एवं छापामार कार्यवाही की जाये तथा अमानक की स्थिति में एफ॰आई॰आर॰ दर्ज की जाये। किसी भी हालत में जिले के कृषकों को अमानक खाद्, बीज एवं दवाईयों का विक्रय नहीं किया जावे। इसी तारतम्य में आज पूरे जिले में विक्रेताओं के यहाँ अचानक निरीक्षण एवं सेम्पलिंग की कार्यवाही की गई। इस कार्य हेतु जिला स्तरीय गुण नियंत्रण कमेटी का गठन किया गया है, जिसके प्रभारी अधिकारी जे॰एल॰ प्रजापति सहायक संचालक कृषि एवं अनुभाग स्तर में अनुविभागीय कृषि अधिकारी एस॰एल॰ कुर्मी एवं श्री पी॰एल॰ कुशवाहा अनुविभागीय कृषि अधिकारी दमोह-हटा को प्रभारी बनाया गया है तथा विकास खण्ड स्तर पर वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी नोडल अधिकारी रहेंगे । अनुविभागीय दण्डाधिकारी राजस्व रविन्द्र चैकसे, अनुविभागीय दण्डाधिकारी पथरिया भारती देवी मिश्रा, अनुविभागीय दण्डाधिकारी हटा नाथूराम गौंड़, अनुविभागीय दण्डाधिकारी तेन्दूखेड़ा विसेन तथा उप संचालक कृषि, बी॰एल॰ कुरील के द्वारा आज कार्यवाही का सम्पादन किया गया। यह प्रक्रिया निरन्तर चलती रहेगी। जिले के किसान भाईयों से अपील की गई है कि, जिले में खाद्, बीज एवं कीटनाशक दवाईयों का पर्याप्त मात्रा मेें भण्डारण किया गया है, तथा पंजीकृत् निजी विक्रेताओं के यहाँ से जो भी कृषि आदान जैसे खाद्, बीज एवं कीटनाशक दवाईयाँ ली जातीं है, उनके देयक/बिल आवश्यक रुप से लेकर सुरक्षित रखें यदि बुवाई पश्चात् फसल का नुकसान होता है, तो संबंधित कृषि अधिकारी से सम्पर्क स्थापित कर तत्काल सूचना दें, ताकि पंजीकृत् निजी विक्रेताओं विरुद्ध अधिनियम के तहत् कार्यवाही की जा सके ।
Damoh / Madhya_Pradesh      Jun 27 ,2019 14:54