सच्चाई उगल सकते है सीसीटीव्ही कैमरे : अवैध हथियार तस्करी का मामला Damoh / Madhya_Pradesh

सच्चाई उगल सकते है सीसीटीव्ही कैमरे : अवैध हथियार तस्करी का मामला

         दमोह - जिले के पथरिया थाना अंतर्गत तीन अपराधियों से 6 पिस्टल जप्त किए जाने का मामला सामने आया है दमोह में आयोजित की गई पत्रकार वार्ता में बताया कि अति पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार लाल के निर्देशन में दमोह पुलिस द्वारा अवैध गतिविधियों में लिप्त अपराधियों के विरुद्ध कार्यवाही की जा रही है उक्त अभियान के दौरान थाना पथरिया में मुखबिर से प्राप्त सूचना के आधार पर पथरिया पुलिस के द्वारा दिनांक 25 जून 2019 को इंदौर से बड़ी मात्रा में अवैध हथियार लेकर आ रहे कलू पिता दयाराम साहू निवासी जगथर , हबीब पिता हाकम खान निवासी वार्ड क्र 2 पथरिया एवं गन्नु उर्फ गनेश विश्वकर्मा निवासी वार्ड क्र 2 रेलवे स्टेशन पथरिया से घेराबंदी करके पकड़ा। जिनमे आरोपी कलू के कब्जे से 3 नग देसी पिस्टल माउजर एवं एक जिंदा कारतूस हाकम खान से 2 नग देसी पिस्टल एवं एक जिंदा कारतूस और गन्नू उर्फ गणेश से एक पिस्टल व एक जिंदा कारतूस जप्त किए। आरोपियों से सघन पूछताछ की जा रही है आरोपियों की निशानदेही पर अभी और शस्त्र बरामद किए जाने की संभावना है। उल्लेखनीय है कि लगभग 8 माह पूर्व दिल्ली में लोधी रोड थाना अंतर्गत एसटीएफ द्वारा आरोपी कल्लू साहू से 23 नगर अवैध पिस्टल बरामद की गई थी बता दें, अपराधियों की पहली पसंद यह देशी व अवैध हथियार ही होते हैं। वाजिब दाम पर मिलने वाले हथियारों का उपयोग जुर्म की दुनिया में जमकर होता है। ऐसा इसलिए क्योंयकि इनका पता लगा पाना पुलिस के लिए काफी मुश्किल होता है।          पथरिया थाना क्षेत्र के इस मामले में जानकारी के अनुसार उक्त मामला 21 जून का बताया जा रहा है पथरिया पुलिस द्वारा 21 जून को 6 पिस्टल सहित करीब 8 से 10 अपराधियों को पकड़ा गया था जिनमे कुछ आदतन अपराधी और कुछ अपने चहेतों के रिश्तेदार भी बताये गये है जिनसे लगातार पूछताछ भी चलती रही जबकि पत्रकार वार्ता में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के अनुसार उक्त मामले को 25 जून का बताया गया है पुलिस द्वारा बताया गया कि 25 जून को यह तीन आरोपी उक्त पिस्टलों को लेकर इंदौर से आ रहे थे वही इस मामले में करीब 8 से 10 अपराधी पकड़े गए थे लेकिन पुलिस ने मात्र 3 लोगों पर मामला बनाकर आदतन अपराधियों को रातों-रात छोड़ दिया तो वही जन चर्चा का विषय यह भी बना हुआ है कि पुलिस ने हथियार बेचने वालों को तो पकड़ लिया लेकिन उन्होंने खरीददारों के बारे में जो सच्चाई बयान की थी और पुलिस ने उन्हें पकड़ा भी था लेकिन उन्हें छोड़ दिया आपको बता दें कि उक्त मामले में पुलिस द्वारा ऐसी कई बातों पर पर्दा डाला गया है जिनकी सच्चाई पुलिस थाना पथरिया में लगे सीसीटीवी कैमरे उगल सकते हैं अगर थाने में लगे सीसीटीवी फुटेज चेक कराए जाएं तो पता चल जाएगा कि जिन आरोपियों को 25 जून को इंदौर से आते हुए पकड़ना बताया जा रहा है वह पथरिया थाने में कितने दिनों से बैठे थे एवं उनके साथ कितने अन्य आदतन अपराधी मौजूद थे लेकिन पुलिस ने मुख्य आरोपियों को छोड़कर मात्र 3 लोगों पर मामला दर्ज किया गया जिनमे 2 की उम्र तो करीब 17 से 19 वर्ष की लगती है जिन पर प्रकरण बनाकर मामले को रफा-दफा करना पूरे क्षेत्र में चर्चाओं का विषय बन रहा है एवं पुलिस प्रशासन की कार्यशैली पर उंगली उठाई जा रही हैं। सनसनीखेज वारदात को लेकर चर्चाओं में रहने वाला पथरिया क्षेत्र अवैध हथियारों की बड़ी मंडी बनता जा रहा है। हालांकि इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधिकारियों द्वारा कार्यवाही कर ऐसे अवैध कारोबारियों को पकड़कर सलाखों के पीछे पहुंचाया जा रहा है.  वहीं इस मामले में थाना प्रभारी राजेश मिश्रा का कहना है कि मामले की जांच अभी चल रही है अभी और अपराधी भी इसके दायरे में आ सकते हैं
Damoh / Madhya_Pradesh      Jun 26 ,2019 11:43