चीन को मांगनी पड़ी भारत से शरण, चक्रवात ‘वायु’ में फंसे पडोसी देश के 10 जहाज / delhi

चीन को मांगनी पड़ी भारत से शरण, चक्रवात ‘वायु’ में फंसे पडोसी देश के 10 जहाज

भारत ने चीन के 10 समुद्री जहाजों को शरण दी है. दरअसल ये चीनी जहाज चक्रवात 'वायु' में फंस गए थे. इन पोतों को महाराष्ट्र के रत्नागिरी बंदरगाह पर शरण दी गई है. चक्रवाती तूफान वायु का प्रभाव चीन तक पहुंच चुका है, हालांकि यह सीधे तौर पर नहीं है. दरअसल 10 चीनी पोतों ने भारत में शरण ली है. इन पोतों को महाराष्ट्र के रत्नागिरी बंदरगाह में शरण दी गई है. भारतीय तटरक्षक महानिरीक्षक केआर सुरेश ने बताया है कि भारतीय तटरक्षक बल ने उन्हें अपने सुरक्षा घेरे में रहने की इजाजत दे दी है.

          हालांकि वायु के भारतीय तट के पास आने से भारतीय विमानों के संचालन में भी बाधा आ रही है. भारतीय वायुसेना का एक विमान नई दिल्ली से विजयवाड़ा जा रहा था. यह विमान NDRF के 160 कर्मचारियों को लेने के लिए विजयवाड़ा जा रहा था. NDRF के इन सदस्यों को वायु चक्रवात के वक्त लोगों की मदद करने के लिए लाया जा रहा था. मौसम विभाग ने इस बात को समझाते हुए कहा है कि अरब सागर के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बन चुका है. जिसके चलते गुजरात के तट की ओर चक्रवात वायु बढ़ता आ रहा है. इसके गुजरात के तट से 13 जून को टकराने की संभावना है. मौसम विभाग का कहना है कि अगले 24 घंटों में वायु की गति और तेज हो सकती है. चक्रवात वायु के गुजरात के वेरावल बंदरगाह के पास जमीन से टकराने की संभावना है. इस दौरान गुजरात के तटीय इलाकों में 110 से 135 किमी प्रति घंटे की गति से हवाएं चलने की संभावना है. गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को चक्रवाती तूफान 'वायु' के मद्देनजर तैयारियों का जायजा लिया. गृह मंत्री ने अधिकारियों को लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी संभावित उपाय करने के निर्देश दिए हैं. इस दौरान गुजरात के के 74 गांवों को खाली करा दिया गया है. चक्रवात के अलर्ट के बाद, गुजरात सरकार ने संबंधित सभी विभागों और तटीय जिला कलेक्टरों को सजग किया गया है. एक अधिकारी ने कहा कि कुल 10 एनडीआरएफ टीमों (पुणे से पांच और भटिंडा से पांच) को गुजरात बुलाया गया है.

/ delhi      Jun 11 ,2019 16:59