BJP बिना अनुमति कर रही थी रोड शो, हुआ हंगामा, अमित शाह के खिलाफ लगे नारें और दिखाए गयें काले झंडे / delhi

BJP बिना अनुमति कर रही थी रोड शो, हुआ हंगामा, अमित शाह के खिलाफ लगे नारें और दिखाए गयें काले झंडे

@lionnews.in

कोलकाता। .बंगाल के कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बिना अनुमति रोड शो किये जाने पर हंगामा हो गया। पुलिस ने रैली की अनुमति के कागज मांगें नहीं दिखाने पर बैनर और तमाम प्रकार की प्रचार सामग्री को हटाया। जिसके चलते भाजपा के कार्यकर्ता नाराज हो गये। शाह जिस वाहन पर सवार थे, उस पर वहा मोजूद कुछ लोगोंे ने काले झडे़ शाह पर फेंके। इसके बाद वहा के हालात खराब हो गयें। पुलिस ने लोगों को काबू में करने के लिए लाठीचार्ज किया। इसके बाद शाह ने रोड शो खत्म कर दिया।

      जानकारी के अनुसार कलकत्ता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान प्रशासन ने रैली की अनुमति के कागज मांगे जिसके चलते भाजपा के नेता खासे नाराज हो गये। जानकारी के अनुसार यूनिवर्सिटी के सामने युवा छात्र और वहा मौजूद लोगों ने शाह के खिलाफ नारे लगाए और काले झंडे दिखाए। साथ ही उनके काफिले पर पत्थरबाजी की गई। इसके बाद भाजपा और तृणमूल कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई। भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी हॉस्टल के गेट बंद कर दिए और पत्थरबाजी की। इसके बाद भाजपा नेताओं ने तृणमूल पर आरोप लगाना शुरू कर दिया। अमित शाह ने कहा, भाजपा के रोड शो को जनता से अच्छी प्रतिक्रिया मिली। इसमें कोलकाता का लगभग हर नागरिक शामिल हुआ। इससे तृणमूल के गुंडे हताश हो गए। इसलिए उन्होंने ये हमला किया। मैं भाजपा के कार्यकर्ताओं को बधाई देना चाहता हूं कि इतनी अराजकता के बाद भी रोड शो जारी रखा और सही समय और जगह पर इसे खत्म किया। ममता बनर्जी की पार्टी जो हिंसा कर रही है, इसकी मैं निंदा करता हूं। मैं बंगाल की जनता से अपील करता हूं कि इस हिंसा का जवाब आखिरी चरण में वोट से दें। तो वहीं भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने इसके पीछे ममता सरकार का हाथ बताया। उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के गुंडों और पुलिस ने पोस्टर और झंडे निकाल दिए। जैसे ही हम लोग पहुंचे वे यहां से भाग गए। बात यही खत्म नहीं हुई ममता सरकार ने 7वें चरण में केंद्रीय बलों की तैनाती को लेकर चुनाव आयोग को पत्र लिखा। इसमें सरकार ने क्विक रेस्पॉन्स टीम में स्थानीय अफसर रखने के फैसले पर विचार करने को कहा है। ममता ने कहा कि केंद्रीय बल स्थानीय पुलिस को संपर्क में नहीं रख रहे हैं। सातवें चरण में बंगाल की 9 सीटों पर मतदान होना है। इसके मद्देनजर शाह की सोमवार को तीन रैलियां होनी थीं। ममता को ऐसे ही हंगामे की आशंका थी। जिसके चलते जाधवपुर में हेलिकॉप्टर उतारने की अनुमति भी नहीं दी थीं।

/ delhi      May 14 ,2019 17:42