जनता को दिखता हैं लेकिन नहीं दिखतें . . . आम चुनाव में कहा है आम मुद्दे / Madhya_Pradesh

जनता को दिखता हैं लेकिन नहीं दिखतें . . . आम चुनाव में कहा है आम मुद्दे

 

आम चुनाव में आम मुद्दे हवा हो गये। जनता अपनी परेशानी का भूल कर इधर उधर की बातों पर ध्यान लगायें ऐसी मंशा के साथ इस बार चुनाव आयोग के होने पर भी सवाल उठ रहे है। मुख्य मुद्दों से दुर कांग्रेस भाजपा सिर्फ जनता को मुर्ख बना रही है। पांच साल के कामें को छुपाने के लिये कभी सेना के सहारे तो कभी गैर राजनीतिक साक्षत्कार के सहारे सत्ता में बैठी भाजपा सरकारी मशीनरी के साथ साथ भारतीय मीडियों का भी भरपूर उपयोग कर रही है। एक बो दौर था जब इस सदी के महा नायक अभिताव बच्चन को कांग्रेस ने टिकट दिया था। उस समय टिकट की बात सामने आते ही चुनाव आयोग ने उनके सभी पोस्टर, फिल्म, विज्ञापन और सभी तरह के प्रसारण पर रोक लगा दी थी। ये मोदी युग है जहा नेरन्द्र कोमिक्स से लेकर गैर राजनीतिक साक्षात्कार, आये दिन नये नये तरीके इजात कर खुब मनमानी की जा रही है।

खुले आम चुनाव आचार सहिता को ताक पर रख कर बीजेपी नेता उसके हाने पर सवाल खडे कर रहे है। इसको लेकर विपक्ष में बैठी कांग्रेस भी कुछ खास नहंी कर पा रही है। ऐसे में मध्य प्रदेश के देवास जिले के हाटपीपल्या से कमलनाथ सरकार के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा का एक बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने चुनाव आयोग पर सवाल खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा है कि अरे भैय्या चुनाव आयोग तो प्रधानमंत्री मोदी से डरा हुआ है। दूसरे छोटे नेताओं को नोटिस दिए जा रहे हैं, प्रधानमंत्री ने सेना के नाम पर वोट मांगा, लोगों ने शिकायत की। लेकिन अभी तक प्रधानमंत्री को कोई नोटिस दिया उनके भाषण पर रोक लगाई।

 

/ Madhya_Pradesh      Apr 25 ,2019 10:22