महिनों से इनको नहीं मिला वेतन, अब परिवार पालना तक मुश्किल / Madhya_Pradesh

महिनों से इनको नहीं मिला वेतन, अब परिवार पालना तक मुश्किल

@lionnews.in भोपाल। अनुसूचित जाति विकास के स्थाई कर्मियों को पिछलें 4 से 5 महिनों से वेतन नहीं मिला है। अब परिवार तक पालना मुश्किल हो गया है। मामला छतरपुर जिले के अधीन संचालित छात्रावास में सेवा दे रहे स्थाई कर्मियों का है। अब आलम यह है कि इन स्थाई कर्मियों को वेतन नहीं मिलने के चलते परिवार चलाना तक दुभर हो चला है। यहा स्थाई कर्मियों को सितम्बर 2018 से आज तक वेतन नहीं मिला है। इनके वेतन भूगतान करने के लिये भोपाल लेखा अधिकारी अनुसूचित जाति विकास 29 सितम्बर 2018 को छतरपुर जिला कलेक्टर को सूची भेज चुका है। जिसमें 45 लाख का आवंटन भूगतान के लिये दर्शाया गया है। इतना ही नहीं इसमें राशी के सामने रिमार्क भी है। सूची में लिखा गया है। कि केवल रेग्युलर वेतन भूगतान हेतु ऐरियर भुगतान न करें। ऐरियर हेतु पृथक से प्रस्ताव भेजें। जनवरी 2019 का महिना खत्म हो x;k है। लेकिन अब तक भूगकतान नहीं हो सका है। इस समस्या के समाधान के लिये मध्य प्रदेश् स्थाई कर्मी कल्याण संघ के जिला अध्यक्ष दीनदयाल अहिवर 1 दिसम्बर 2018 को जिला कलेक्टर तक को बता चुके है। संघ के प्रान्ताध्यक्ष शारदा सिंह परिहार कमिश्नर अनुसुचित जाति विकास को भ्ज्ञी इस से अवगत कराया हैं। शारदा कहते है कि कुछ अधिकारियों की मंशा के चलते स्थाई कर्मी परेशान हो रहा है। 4 से 5 महिने बीत चुके है सेवा के रहे कर्मीयों का परिवार क चलाना मुश्किल है आलम यह है कि अब स्थाई कर्मी किसी बड़े कदम की तरफ बढ़ने का मन बना रहे है। वहीं परिवार पूरी तरह टूट रहा है। लेकिन प्रशासन में बेठे अधिकारियों को काम कराना अच्छे से आता है भूगतान किदलाने की बात पर उबासी आती है। देखना होगा कि कब तक इन स्थाई कर्मियों के परिवारों में खुशिया लोटेगी।

/ Madhya_Pradesh      Feb 01 ,2019 16:55