कांग्रेस ने लगाया बीजेपी पर परम्परा तोड़ने का आरोप, पूर्व अध्यक्ष बोल पहले भी हुआ है ऐसा / Madhya_Pradesh

कांग्रेस ने लगाया बीजेपी पर परम्परा तोड़ने का आरोप, पूर्व अध्यक्ष बोल पहले भी हुआ है ऐसा

@lionnews.in

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा सत्र सोमवार से शुरू हो गया है। कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष के लिए एनपी प्रजापति को मैदान में उतारा है। तो वहीं भाजपा की तरफ से हरसूद से विधायक विजय शाह को उम्मीदवार घोषित किया है। वहीं कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाया है। कांग्रेस का कहना हैं कि भाजपा ने वर्षा से चली रही परम्परा को तोड़ा है। विधानसभा में कांग्रेस के मंत्री गोविन्द सिंह ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए कहा कि सालों से विधानसभा सत्र में अध्यक्ष पद के लिए चुनाव नहीं होते रहे है। सत्ता पक्ष अपने प्रत्याशी के लिए समर्थन मागता है। विपक्ष की समर्थन देता रहा हैं। लेकिन ऐसा इस बार नहीं हो रहा है। विपक्ष अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए अपने प्रत्याशीयों को चुनाव में उतार रहा है। उन्होंने कहा कि परम्परा को कायम रखने के लिए उन्होंने शीतकालीन सत्र की शुरू होने से ठीक एक दिन पहले पूर्व मुख्य मंत्री शिवराज सिंह और भाजपा के तमाम नेताओं ने विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए अपनी पार्टी के प्रत्याशी का समर्थन मांगा। लेकिन भाजपा ने अध्यक्ष पद के लिए विजय शाह का नाम आगे कर दिया है। मध्य प्रदेश विधानसभा की परम्परा को तोड़ा है। तो वहीं पूर्व अध्यक्ष सीताशरण शर्मा कहते हैं कि अध्यक्ष पद के चुनाव पहले भी हुए है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमसे पूछे बिना ही अध्यक्ष पद के नाम की घोषण कर दी है। इसलिए भाजपा को अपना प्रत्याशी मैदान में उतारना पड़ रहा है।

            बीजेपी विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में कांग्रेस को वॉक ओवर नहीं देना चाहती। बीजेपी ने विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार उतारने का एलान कर दिया है। बीजेपी की ओर से हरसूद से विधायक विजय शाह को विधानसभा अध्यक्ष पद का उम्मीदवार घोषित किया गया है। अब कांग्रेस के एनपी प्रजापति और बीजेपी के विजय शाह के बीच अध्यक्ष पद को लेकर चुनाव होगा। हालांकि कांग्रेस पूरी तरह से आश्ववस्त है कि उनके पास 121 विधायकों का समर्थन है। लेकिन बीजेपी इन विधायकों में सेंध लगाने की पूरी कोशिश में जुटी है। बीजेपी ने उम्मीदवार उतारकर अपनी ताकत दिखाने की कोशिश की है। कांग्रेस के पास जहां बहुमत दिखाने की चुनौती हैं। तो बीजेपी भी पूरी कोशिश में हैं कि मजबूत विपक्ष के तौर पर अपने आप को पेश कर सके। वहीं संसदीय कार्यमंत्री गोविंद सिंह पहले ही कह चुके हैं। अगर बीजेपी ने विधानसभा के अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार / Madhya_Pradesh      Jan 07 ,2019 15:34