मोदी जी ने क्यों नहीं किया किसानों का कर्जा माफ, राहुल ने पुछा सवाल  अपने तीन मित्रों का 3 लाख 15 हजार करोड रुपए माफ / Madhya_Pradesh

मोदी जी ने क्यों नहीं किया किसानों का कर्जा माफ, राहुल ने पुछा सवाल अपने तीन मित्रों का 3 लाख 15 हजार करोड रुपए माफ

@lionnews.in

भोपाल। मध्य प्रदेश में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा पर जमकर हमला बोला। वह सागर में देवरी और सिवनी के बाद मंडला की जनसभाओं को सम्बोधित कर रहे थें। उन्होंने पीएम मोदी को घेरते हुए सवाल पुछा कि मोदी जी आपने हिन्दुस्तान के किसानों का कर्जा माफ क्यों नहीं किया। अपने तीन मित्रों का 3 लाख 15 हजार करोड रुपए माफ कर दिया। इतना ही नहीं राहूल ने इसके ठीक पहले देवरी की जनसभा में बेरोजगारी और भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि भाजपा शासित किसी भी राज्य में जाकर युवाओं से पूछो कि क्या करते हो तो वह हाथ हिलाकर कहते हैं कि कुछ नहीं करते। उन्होंने नोटबंदी को देश का सबसे बड़ा घोटाला कहा। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश का 2 लाख कर्मचारी अनुबंध पर हैं। यह भी नहीं मालूम होता कि कल रोजगार होगा कि नहीं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार आई तो सबसे पहले इन लोगों की नौकरी पक्की करेंगे। साथ ही, सरकारी नौकरियों में खाली पदों का भरा जाएगा। चीन एक दिन में 50,000 नौकरियां पैदा करता है। मोदी जी ने स्टार्ट अप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया, मेक इन इंडिया शुरू किया, लेकिन, उसके बावजूद एक दिन में केवल 450 नौकरियां पैदा होती हैं। मोदी ने कहा था दो करोड़ युवाओं को रोजगार देगें, मिला क्या? किसी को मेक इन इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया से रोजगार नहीं मिला। 15 लाख रुपए मिले किसी को। किसी के खाते में 5 रुपए भी नहीं डाले। 

नोटबंदी करके मोदी जी ने हिंदुस्तान के गरीब लोगों की जेब में हाथ डालकर उनका पैसा निकालकर हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों की जेब में डाला है। नोटबंदी से बड़ा घोटाला इस देश के इतिहास में कभी नहीं हुआ। आने वाले समय में यह बात साफ हो जाएगी।

यहां कोई ऐसा है जो नोटबंदी के सामने बैंक के सामने नहीं खड़ा हो। मोदी ने कहा था काले धन के खिलाफ लड़ाई है। सारा देश लाइन में खड़ा हो जाए। काले धन वाले चोर, ललित मोदी, नीरव मोदी, विजय माल्या, अनिल अंबानी लाइन में नहीं थे। लाइन में छोटे दुकानदार, मजदूर, महिलाएं थीं। ईमानदार लोग बैंक के सामने खड़े रहे और चोर बैंक के पीछे से काला धन सफेद कर गए। चैकीदार से पूछना पड़ेगा। अभी एमपी में पूछेंगे, 2019 में दिल्ली में।

यूपीए सरकार में वायूसेना मनमोहन सिंह के पास आई और लड़ाकू विमान मांगे। उन्होंने कहा जो जहाज चाहिए चुन लो, उसे हिन्दुस्तान में बनाएंगे। फ्रांस के राफेल को 526 करोड़ रुपए में खरीदने के लिए कहा। शर्त यही थी कि विमान की फैक्ट्री भारत में लगेगी। मोदी प्रधानमंत्री बने। अनिल अंबानी के साथ फ्रांस गए। जादू से राफेल का कॉन्ट्रैक्ट बदल जाता है। सबसे पहले 526 करोड का हवाई जहाज नरेंद्र मोदी ने 1600 करोड में खरीदा। सरकारी कंपनी को हटा कर अनिल अंबानी को ठेका दिया। फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा मोदी ने कहा कि फ्रांस में हवाई जहाज बनेगा। एयरफोर्स से हजारों करोड़ रुपए छीना और वो पैसा चैकीदार ने अनिल अंबानी की जेब में डाल दिया।

/ Madhya_Pradesh      Nov 16 ,2018 16:12