पुलिस व्‍यवस्‍था को बेहतर बनाने के लिये अपना सर्वश्रेष्‍ठ दें- डीजीपी  / Madhya_Pradesh

पुलिस व्‍यवस्‍था को बेहतर बनाने के लिये अपना सर्वश्रेष्‍ठ दें- डीजीपी

@lionnews.in

भोपाल। मध्य प्रदेश में पुलिस अकादमी भौंरी, भोपाल में 38 वें दीक्षांत समारोह पर 38 प्रशिक्षु उपपुलिस अधीक्षकों को शानदार परेड के लिये बधाई एवं सुनहरे भविष्‍य के लिये शुभकामनाएं देते हुए पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्‍ला ने कहा कि 1 लाख 25 हजार सदस्‍यों के पुलिस परिवार में आपका स्‍वागत है। उन्‍होंने कहा कि पुलिस व्‍यवस्‍था को बेहतर बनाने के लिये अपना सर्वश्रेष्‍ठ योगदान दें। नई उर्जा एवं आशावादी सोच के साथ कानून-व्‍यवस्‍था एवं समाज में शांति बनाने के लिये ईमानदारी से कर्तव्‍यों का निर्वहन करें। उन्‍होंने कहा कि आप सभी कठिन प्रतियोगी परीक्षा को उत्‍तीर्ण कर यहां तक पहुंचे है। श्री शुक्‍ला ने कहा कि कुशलता एवं जोश के साथ आगे बढ़ते हुए पुलिस को नेतृत्‍व प्रदान करें। श्री शुक्‍ला ने प्रशिक्षुओं द्वारा तैयार पुस्‍तक ''जज्‍बा'' का विमोचन किया। साथ ही प्रशिक्षण के दौरान उत्‍कृष्‍ट प्रशिक्षुओं को पुरस्‍कृत किया। प्रथम पुरस्‍कार सौरभ कुमार, द्वितीय पुरस्‍कार परेड कमांडर दुर्गेश आर्मो तथा तृतीय पुरस्‍कार हिमाली सोनी को दिया गया।

           श्री शुक्‍ला ने परेड का निरीक्षण किया तथा परेड की सलामी ली। प्रशिक्षु उपपुलिस अधीक्षकों की शानदार परेड एवं पुलिस बैंड की सुमधुर धुनों ने दर्शकों की तालियां के माध्‍यम से प्रशंसा प्राप्‍त की। 

       पुलिस अकादमी भौंरी, भोपाल के निदेशक एवं अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक सुशोभन बनर्जी ने 38 वें उपपुलिस अधीक्षक प्रशिक्षुओं को कर्तव्‍य-निष्‍ठा एवं ईमानदारी की शपथ दिलाई। श्री बनर्जी ने एक वर्ष के प्रशिक्षण का प्रतिवेदन प्रस्‍तुत करते हुए कहा कि 12 माह के प्रशिक्षण के दौरान कठिन परिश्रम और अनुशासन के बीच सभी प्रशिक्षुओं को पुलिस प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के विषयों में पारंगत किया गया साथ ही वि‍भिन्‍न प्रकार की शस्‍त्र विद्या एवं तैराकी में भी निपुण किया गया। पुलिस के सामने आने वाली नित नई चुनौतियों को दृष्टिगत रखते हुए विधि विज्ञान के प्रशिक्षण हेतु एफ.एस.एल.सागर, डायल-100 कंट्रोल रूम ,साइबर एवं सीसीटीएनएस भोपाल में भी प्रशिक्षण दिलाया गया है। इन सभी प्रशिक्षणों का उद्देश्‍य न केवल निपुण पुलिस अधिकारी बनाना है अपितु एक संवेदनशील पुलिस अधिकारी के रूप में तैयार करना भी है जिसके लिये कई संवेदनशील विषयों पर नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ सोशल डिफेंस, एनएलआईयू भोपाल, एसवीपीएनपीए हैदराबाद, यूनिसेफ से समन्‍वय कर सेमिनार एवं वर्कशॉप आयोजित कर प्रशिक्षुओं को लाभान्वित किया गया।

/ Madhya_Pradesh      Oct 03 ,2018 15:39