MP:  सहित आस पास के क्षेत्रों में बुखार का प्रकोप / Madhya_Pradesh

MP: सहित आस पास के क्षेत्रों में बुखार का प्रकोप

 
तौफीक मिस्कीनी @lionnews.in
छिदवाडा:-जिला मुख्यालय से लगभग 22 कि.मी की दूरी मे लगे ग्राम सिंगोडी में मच्छरो की बढती संख्या के साथ साधारण बुखार और मलेरिया का बुखार का प्रकोप बढता जा रहा हैं नगर सहित आस पास के अनेक ग्रामीण क्षेत्रों म़े मच्छरो कि बढ रही संख्या से मलेरिया बुखार के मरीजो में लगातार संख्या में इजाफा हो रहा है।जिससे क्षेत्र के ग्रामीणजन परेशान दिखाई दें रहे हैं।इस सम्पूर्ण मामले में न तो  संबधित विभाग का अता है और न ही पता है कि क्षेत्र में जनता कितनी परेसान है।मलेरिया विभाग और स्वास्थ्य विभाग का इस और ध्यान नही है।जिससे मलेरिया का प्रकोप बढ़ता जा रहा है ।
 
कम बारिश और जगह-जगह हो  रहे कचरे इकट्ठे तथा कीचड़ के कारण सिंगोड़ी सहित आसपास के गांवों में मच्छरों की पैदावार बढ़ने से बुखार के साथ साथ मलेरिया बुखार ,सरदर्द ,जुखाम खासी, के मरीज लगातार इस क्षेत्र में बढ रहे है।मच्छरों की बढती संख्या के साथ मलेरिया का प्रकोप के कारण लोग स्थानीय अस्पताल के अलावा जिला अस्पताल में इलाज के लिए सैकड़ों मरीज जिला अस्पताल या फिर झोलाछाप डॉक्टरों के पास अपना ईलाज कराने जाते दिख रहे है।हालांकि लोगों को इस बात की राहत है लेकिन मलेरिया सर दर्द जुखाम और खांसी जैसी बीमारी यहां देखने को मिल रही ह़ै  राहत की बात रहा हैं कि चिकन गुनिया पिलिया डेंगू जैसी कोई अन्य बीमारी यहां अभी देखने को नही मिली।
 
संबंधित बिभाग का इस और ध्यान नही 
मच्छरों के कारण फैल रही बीमारी को लेकर स्थानीय प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों के द्वारा अभी तक इस मामले को लेकर कोई जागरूकता के लिए कोई भी अभियान या मिशन नही चलाए गए है यहां पर सिंगोड़ी रजोला पिंडरई डबीर खकरा चौरई खामीहीरा तेंदनी भजिया बांका मुकासा गुरैया नंदौरी कुबडी नंदौरा कोल्हिया बड़ेगांव पटनिया सहित दर्जनों गांव में बारिश के बाद स्थानीय प्रशासन और ग्राम पंचायत स्वास्थ्य विभाग ने मलेरिया विभाग तथा कोई भी स्वयंसेवी संस्था ने साफ सफाई को अब तक ग्रामों में मच्छरों से बचाव के लिए जागरूकता का कोई मिशन नहीं चलाया है 
इस और ग्राम पंचायत का सफाई की ओर ध्यान नहीं
हालांकि विषय विशेषज्ञो का कहना हैं कि स्थानीय लोगों को इस मौसम मे अपने घरों के आसपास विशेष रुप से साफ सफाई पर ध्यान देना चाहिए ताकि गंदगी और रुके पानी में मच्छरों के लार्वा ना पनपे।अगर ज्यादा गंदगी और पुराना रुका हुआ पानी स्टाक ज्यादा दिनों तक रहता है तो मच्छरों के लार्वा बनते हैं और इन मच्छरों के होने के कारण अगर यह इंसानों को काटले तो बुखार मलेरिया यहां तक की डेंगू चिकन गुनिया जैसे गंभीर बीमारियों से लोग ग्रसित हो जाते हैं वही सिंगोड़ी भले ही ग्राम पंचायत हो लेकिन ज्यादा आबादी होने के कारण शहरी क्षेत्रों की तरह बसी हुई है इस कारण यहां पर हर मोहल्ले गली में मच्छरों का अंबार लगा हुआ है जिस कारण यहां पर सबसे ज्यादा मच्छरों की पैदावार बढ़ रही है जल्द ही प्रसासन कोई अहम् कदम लोगो के स्वास्थ्य के लिये नही उठता है तो भीसण बीमारियो का प्रकोप क्षेत्र में अधिक बढ़ जायेगा।
/ Madhya_Pradesh      Sep 17 ,2018 15:37