सवर्ण आंदोलन के तहत बंद रहा मध्य प्रदेश / Madhya_Pradesh

सवर्ण आंदोलन के तहत बंद रहा मध्य प्रदेश

@lion news.in

भोपाल। मध्य प्रदेश में सवर्ण आंदोलन के तहत मध्य प्रदेश में बंद का खासा असर रहा। प्रदेश के कई जिलों में बंद शान्ति पूण रहा तो वहीं शहडोल और उज्जैन के जाटनी गांव में कुछ तनाव रहा। रीवा और अशोक नगर में प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक पर आंदोलन किया। कई जगह पुलिस पर पथराव भी हुआ। लेकिन कहीं से भी किसी के हताहत होने की ख़बर नहीं है।  प्रदेश के ज़्यादातर ज़िलों में धारा 144 लागू रही। कंट्रोल रूम से सुरक्षा व्यवस्था की लगातार मॉनिटरिंग की गयी।  बंद को देखते हुए पूरे प्रदेश में की एसएएफ की 34 कंपनियां और 6,000 नव आरक्षक तैनात किए गए थे।

भोपाल में करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह के बंगले का घेराव करने की कोशिश की। हालांकि पुलिस ने उन्हें समझाकर वापस कर दिया।  विदिशा में विधायक कल्याण सिंह के घर का घेराव किया गया। ग्वालियर चंबल संभाग में सवर्ण समाज ने शालीनता के साथ प्रदर्शन किया। पुलिस इस बार सतर्क रही. यहां प्रदर्शन तो हुआ लेकिन हालात काबू में रहे. भिंड में पुलिस ने बीजेपी विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह के बेटे पुष्पेंद्र सिंह को हिरासत लिया तो उनके समर्थकों ने थाने का घेराव कर दिया. यहां पुलिस पर पथराव भी किया गया.  अशोक नगर में कार्यकर्ता रेलवे ट्रैक पर उतर आए. मुरैना में पुलिस दिमनी सरकारी स्कूल के सामने धरने पर बैठे आंदोलन कारियों को हटाने गई थी, उस दौरान दोनों में झड़प हो गयी.

/ Madhya_Pradesh      Sep 06 ,2018 16:16