58 हजार 561 करोड़ का कृषि ऋण देकर घिरी केंद्र सरकार RTI से खुलासा / delhi

58 हजार 561 करोड़ का कृषि ऋण देकर घिरी केंद्र सरकार RTI से खुलासा

@lionnews.in

नई दिल्ली। सूचना का अधिकार कानून के आवेदन पर भारतीय रिजर्व बैंक ने आवेदक को साल 2016 में सरकारी बैंकों द्वारा 615 खातों को 58 हजार 561 करोड़ रूपए का कृषि ऋण देने की जानकारी दी है। इस लिहाज से प्रत्येक खाता धारक को 95 करोड़ से अधिक की राशि दी गई है। यह जानकारी एक प्रसिद्व वेब पोर्टल मीड़िया हाउस ने मांगी थी।

आप को बता दे खेती के लिए मिलने वाला कर्ज पर सामान्य लोन के मुकाबले कम व्याज दर लगता है। इताना ही नहीं अन्य लोनों से इन प्रकार के ऋण में नियमों को भी सामान्य के मुकाबले कम शर्ते होती है। इसका फायदा एग्री- बिजनेस याने कृषि व्यवसाय के नाम पर कई बड़ी कंपनियों ने उठाया है। इसके दायरे में देश की कई बंड़ी नामी कंपनिया हैं। कंपनिया बेचने और खरीदने फसल का भंड़ारण के लिए वेयर हाउस बनाने जैसे कामों को बता कर बैंकों से ऋण लेती है। वही सरकार किसानों को कर्ज देना बताकर वाह वाही ले रही है। जबकि किसान फिर भी खाली हाथ है। और देख का किसान आत्महत्या कर रहा है।

/ delhi      Sep 04 ,2018 17:33