अंबानी की जेब में मोदी सरकार, कौन बोला ...? delhi / delhi

अंबानी की जेब में मोदी सरकार, कौन बोला ...?

@lionnews.in

नई दिल्ली। इंस्टीट्यूशंस आॅफ एमिनेंस विवाद में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी कूद गए हैं। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा है कि मोदी सरकार अंबानी की जेब में हैं। जियो इंस्टीट्यूट को इंस्टीट्यूशंस आॅफ एमिनेंस की सूची में शामिल करने को लेकर विवाद छिड़ गया है। इस में बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा का बयान भी सामने आया है। उन्होंने ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा कि सीएम केजरीवाल ने लिखा पहले कांग्रेस सरकसार अंबानी की जेब में थी, अब मोदी सरकार अंबानी की जेब मेें है। कुछ भी बदला हैं क्या? किया है आप को बता दे मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कुछ दिनों पहले इंस्टीट्यूंसस आॅफ एमिनेंस की सूची जारी की थी। जिसपर सोशल मीडिया और मीडिया में मोदी सरकार की खूब फजीते हुई है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने भी केन्द्र सरकार की कड़ी आलोचना की थी। उन्होंने ट्वीट किया था, जियो इंस्टीट्यूट की अभी तक स्थापना भी नहीं की गई हैं। यह अस्तित्व में ही नहीं है। इसके बावजूद सरकार ने इसे एमिनेंस का टैग दे दिया हैं। मुकेश अंबानी होने का यही महत्व हैं। 

क्या है विवाद जानियें - केंद्र ने देश के छह उच्चतर शिक्षण संस्थानों को इंस्टीट्यूट आॅफ एमिनेंस की सूची में शामिल किया हैं। इसमें जियो इंस्टीट्यूट को निजी संस्थान के वर्ग में स्थान दिया गया है। लेकिन इसको लेकर सोशल मीडिया में विवाद छिड़ गया। विरोधियों का कहना है कि जो संस्थान अभी अस्तित्व में है ही नहीं। उसे एमिनेंस की सूची में कैसे शामिल कर लिया गया। जो संस्थान वर्षो से देश में काम कर रहे है। उनको पीछे छोड़ जियो इंस्टीट्यूट को सूची में लेना कंन्द्र सरकार की मंशा पर संदेह उत्पनन करता है। इस पर मंत्रालय ने कहा कि जियो इंस्टीट्यूट को ग्रीन फील्ड श्रेणी के तहत चुना गया है। इस श्रेणी में नए संस्थानों को जगह दी जाती है। सवाल यह उठता है कि जियों इंस्टीट्यूट तो अभी है ही नहीं ?

आपको बता दे आईआईटी दिल्ली आईआईटी बांबे, और आईआईएससी बेंगलुरू को सार्वजनिक शिक्षण संस्थान की श्रेणी में इस सूची में लिया गया है। निजी संस्थानों की श्रेणी में मणिपाल एकेडमी आॅफ हायर एजुकेशन, बिट्स पिलानी और जियो इंस्टीट्यूट को जगह दी गई है। इसके सबसे आगे जियो इंस्टीट्यूट को रखा गया है। जबकि मणिपाल ओर बिट्स अस्त्तिव में है। लेकिन जियों इंस्टीट्यूट की अभी तक नींव भी नहीं रखी गई है। 

delhi / delhi      Jul 12 ,2018 01:56