आरआई पटवारी की मिलीभगत से शासकीय भूमि को बताया निजी : ग्रामीणों ने की शिकायत / Madhya_Pradesh

आरआई पटवारी की मिलीभगत से शासकीय भूमि को बताया निजी : ग्रामीणों ने की शिकायत

 

@lionnews.in

पथरियातहसील कार्यालय के राजस्व कर्मचारियों का एक बड़ा कारनामा सामने आया है। जिसमें पटवारी अनिल पटैल और आर आई  की मिलीभगत कर करोड़ों की कीमती शासकीय आबादी भूमि को निजी बना दिया गया है। और इसके विरोध में सैकड़ों ग्रामीणों ने तहसील कार्यालय पहुंच कर इस कारनामें को रचने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है।

 ब्लॉक के लखरौनी पंचायत के ग्रामीण तहसील में पहुंच कर पटवारी और आर आई की सांठगांठ की शिकायत की गांव की शासकीय आबादी भूमि जिस पर ग्रामीण 15-20 सालों से रह रहे थे। ग्रामीणों ने तहसीलदार पथरिया को की गई शिकायत में उल्लेख किया है इस भूमि पर प्रमोद जैन हाडवेयर लम्बे समय से अपनी दष्टि जमाए हैं।

पहले तो उसके द्वारा इस भूमि पर कब्जा करने की कोशिश की गई लेकिन जब वह कामयाब नहीं हुए तो आरआई पटवारी के साथ सड्यंत्र पूर्वक शासकीय भूमि पर अवैध कब्जा करने का प्रयास किया जा रहा है। तहसील में  गांव के 100 से अधिक लोगों ने एक हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन सौंप कर शासकीय आबादी भूमि को कब्जा मुक्त कराने की मांग की गई है। साथ ही ग्रामीणों द्वारा तहसीलदार से गुहार लगाते हुए कहा गया है कि यही एक मात्र भूमि शेष रह गई जिस पर आगे चलकर गांव विकास के कार्य हो सकते हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि आरआई पटवारी के साथ षडयंत्रकारी प्रमोद जैन द्वारा मोटी रकम देकर शासकीय आबादी भूमि को अपने नाम कराने में सफल हुआ है। तहसील में पहुंचे ग्रामीणों ने बताया कि जैसा कि गांव में हल्ला है कि षडयंत्रकारी प्रमोद जैन द्वारा आरआई और पटवारी को रुपये देकर शासकीय भूमि को अपने नाम कराया है। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि इसमें कितनी सच्चाई यह तो उन लोगों को नहीं मालूम है लेकिन बिना सांठगांठ और लेनदेन किए आरआई पटवारी शासकीय आबादी भूमि को निजी भूमि बनाकर रिकार्ड दुरुस्त और स्वामित्व पत्र तैयार नहीं कर सकते हैं। ग्रामीणों ने तहसीलदार से मुलाकात इस मामले में जांच की भी मांग की है।

बिना मौका निरीक्षण किए तैयार हो गया सीमांकन

ग्रामीणों ने बताया कि रविवार के दिन पटवारी आर आई एवं नायब तहसीलदार आये और नाप करने लगे और तीनों ने धमकी दी है कि अगर जमीन खाली नही की तो बुलडोजर चला देगे। वही एक महिला ने बताया कि हम लोग 15 साल से रह रहे / Madhya_Pradesh      Jul 10 ,2018 17:10