भावांतर योजना के अंतर्गत अपना पुराना स्टॉक खपाने की तैयारी में व्यापारी, गलती को माना कलेक्टर ने, अब होगी जांच Bhopal / Madhya_Pradesh

भावांतर योजना के अंतर्गत अपना पुराना स्टॉक खपाने की तैयारी में व्यापारी, गलती को माना कलेक्टर ने, अब होगी जांच

@lionnews.in

भोपाल। मध्यप्रदेश सरकार की भावांतर योजना का लाभ किसानों को मिला हो या नहीं लेकिन व्यापारी इसका भरपूर लाभ उठा रहा है। ताजा मामला जबलपुर का है। इस मामले में जबलपुर से लेकर भोपाल तक अधिकारियों के पैरों के नीचे से जमीन खिसकी हुई है।

सीएम का फैमिली संग गाया गाना, कमलनाथ को नहीं आया पसंद, कहा शर्मनाक हैं

भावांतर योजना के अंतर्गत समर्थन मूल्य पर उड़द और मूंग की खरीदी करने की सरकार की घोषणा भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ते-चढ़ते बच गई। जबलपुर जिले में जहां घोषणा के बाद ही अचानक उड़द और मूंग की उपज का रकबा साढ़े 16 हजार हेक्टेयर से बढ़कर 44 हजार हेक्टेयर हो गया। कलेक्टर छवि भरद्वाज ने खुद इस बात को माना कि व्यापारियों ने अपना पुराना स्टॉक खपाने के लिए भावांतर को जरिया बनाया। उन्होंने कहा कि वह इसकी एसडीए स्तर से जांच कराएंगी। सूत्र की माने तो जांच होने पर लगभग दस पटवारी नपेगें।

Bhopal / Madhya_Pradesh      Jul 03 ,2018 17:33