पीड़ित परिवार का दावा- एसडीएम ने मना किया था राहूल गांधी से मिलने को / Madhya_Pradesh

पीड़ित परिवार का दावा- एसडीएम ने मना किया था राहूल गांधी से मिलने को

@lionnews.in

मंदसौर। कांग्रेस ने पिछले दिनों सरकारी अधिकारियों को कमल का बिल्ला लगाये हुए काम करने का आरोप लगाया था। मंदसौर में अब यह सामने आ रहा है। सियासत के मोहरे जनता पर तानाशाही करने से भी बाज नही आयेे। इसका सीधा उदाहरण मंदसौर के वो पीड़ित परिवार है जिन्होंने पिछली साल 6 जून को किसानों पर चली गांली में अपनो को खो दिया। अभिषेक पाटीदार का परिवार इनमें से एक है। परिवार वालों को दावा है कि उनको कांग्रेस अध्यक्ष राहूल गांधी से मिलने से एसडीएम ने मना कर दिया। 

इसे भी पढ़े : -

कमल की सियासत से कमल थरथराया

 

MP में इस सांसद के फार्महाउस से चोर काट ले गए चंदन का पेड़, और अब...

अभिषेक पाटीदार के परिवार का दावा है कि सब- डिविजनल मजिस्टेªट याने एसडीएम ने हमारे दूसरे बेटे को बुलाया था। पूछा कि कौन- कौन कांग्रेस अध्यक्ष से मिलने जा रहा है। बेटे ने जब कहा कि मेरे माता-पिता जा रहे हैं, तब एसडीएम ने उनसे राहुल से मिलने के लिए मना कर दिया। 

मंदसौर में पिछलें 10 दिनों से बीजेपी सहित शिवराज सरकार ने अपनी पूरी ताकत झोकने कर राहूल गांधी की रैली को सफल होने से रोकने का हर सम्भब प्रयास किया। परिणाम यह रहा कि भीड़ देख कर लोगों ने कहा कि पिपलियामंड़ी में महाकुभ जैसा नजारा है। भाजपा की विफलता से सियासत में कांगे्रस सफल हो गई। कांग्रेस ने दो दिन पहले कहा था कि कुछ अधिकारी कमल का बिल्ला लगाये काम कर रहे है। पीड़ित परिवार का दावा इस बात की पुष्ठी कर रहा है। देखना होगा कि सत्ता में बैठी सरकार किस हद तक जायेगी। वहीं जनता इस बात को समझ भी रही है और देख भी रही है। 

/ Madhya_Pradesh      Jun 07 ,2018 05:35