साहित्यकार और कवि बालकवि बैरागी का निधन bhopal / Madhya_Pradesh

साहित्यकार और कवि बालकवि बैरागी का निधन

भोपाल, नीमच। साहित्यकार व कवि बालकवि बैरागी का निधन हो गया। वे 87 वर्ष के थे। मूलतः मनासा क्षेत्र के बालकवि बैरागी साहित्‍य और कविता के सा‍थ राजनीति के क्षेत्र में भी सक्रिय रहे। वे राज्‍यसभा के सदस्‍य रहे।इस सरस्‍वती पुत्र को कई सम्‍मानों से नवाजा गया था। श्री बैरागी का मनासा में भाटखेड़ी रोड पर कवि नगर पर निवास है। वहीं पर उन्‍होंने शाम 6 बजे अंतिम सांस ली। श्री बैरागी कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेताओं में जाने जाते थें। मध्‍यप्रदेश में अर्जुन सिंह सरकार में वेखाद्यमंत्री भी रहे। कवि बालकवि बैरागी को मध्यप्रदेश सरकार के संस्कृति विभाग द्वारा कवि प्रदीप सम्मान भी प्रदान‍ किया गया। साहित्‍य और राजनीति से जुड़े रहने के कारण उनकी कविताओं में साहित्य और राजनीति की झलक देखने को मिलती है। गीत, दरद दीवानी, दो टूक, भावी रक्षक देश के, आओ बच्चों गाओ बच्चों श्री बैरागी की प्रमुख रचनाएं हैं।मृदुभाषी और मस्‍तमौला स्‍वभाव तथा सौम्‍य व्‍यक्तित्‍व के धनी बालकवि बैरागी ने अंतरराष्ट्रीय कवि के रूप में नीमच जिले को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया था।

इसे भी पढ़े :-

मध्य प्रदेश में 200 पति हर महीने पिटते हैं अपनी पत्नियों सेसबसे अव्वल है इंदौर

मंत्री दीपक जोशी ने कहा - मनवांछित रिजल्ट नहीं आने पर विद्यार्थी नहीं हों निराश

पोषण पर तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला आज से भोपाल मेंकेन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर करेगें शुभारंभ

कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे को अपनी मांगों को लेकर अध्यापक सौंपेंगे ज्ञापन

जानकारी के अनुसार श्री बैरागी नीमच में एक कार्यक्रम में शामिल होकर वे अपने घर मनासा पहुंचे थे। वहां कुछ समय आराम करने के लिए अपने कमरे में गए। शाम करीब 5रू00 बजे जब उन्हें चाय के लिए उठाया गया तो उनके निधन की खबर लगी। बालकवि बैरागी का अंतिम संस्कार 14 मई की दोपहर करीब 2 बजे मनासा में होगा। कवि नगर स्थित निज निवास से दोपहर 2 बजे अंतिम यात्रा निकलेगी। बैरागी के निधन पर शोक स्वरूप मनासा नगर सोमवार को बंद रहेगा।

bhopal / Madhya_Pradesh      May 13 ,2018 17:01