भाजपा कांग्रेस की पार्टनरशिप के चलते हो रहा अवैध रेत खनन / Madhya_Pradesh

भाजपा कांग्रेस की पार्टनरशिप के चलते हो रहा अवैध रेत खनन

@lionnews.in

जबलपुर। कांग्रेस विधायक तरुण भनोत व भाजपा विधायक मोती कश्यप के बेटे की सांठगांठ से अवैध उत्खनन किया जा रहा है। आरोप है कि मध्यप्रदेश स्टेट मायनिंग कार्पोरेशन द्वारा फर्जी माइनिंग प्लान बनाकर  पानी में डूबी हुई रेत खदानों को स्वीकृत कर संचालन हेतु ठेका दिया गया है, इतना ही नहीं नर्मदा में रेत नहीं होने के बावजूद धड़ल्ले से अवैध उत्खनन किया जा रहा है।  पिछले साल दिखावे के लिए किए गए टेंडर की राशि अब ठेकेदारों को वापस की जा रही है। यह आरोप संजय यादव, आरटीआई एक्टिविस्ट सिद्धार्थ गुप्ता और मदन लारिया ने लगाया है। उन्होंने पत्रकारवार्ता कर जानकारी दी। साथ ही दस्तावेज भी बताये। 

पत्रकार वार्ता कर आरटीआई एक्टिविस्ट ने आरोप लगाये है कि पानी में डूबी खदानें जिन्हें माइनिंग प्लान में मंजूर कर ठेका दिया गया है उसमें  भड़पुरा, नीमखेड़ा, मालकछार, न्यू चरगवां, सालीवाड़ा, सगड़ा-झपनी, पाटन में हिरन नदी के महुआखेड़ा, चितरा, ककरेटा, सिहोरा में खिरहनीकलां, देवरी कन्हाई और पनागर सिंगलदीप शामिल हैं। राज्य सरकार का यह हाल तब है जबकि साल 2010 में ही माइनिंग कार्पोरेशन के प्रमुख सचिव एसके मिश्रा द्वारा पत्र लिख यह स्पष्ट किया जा चुका है कि जबलपुर,नरसिंहपुर के नर्मदा घाटों में रेत नहीं बची है। इसके बाद भी सरकार ने अपने ही अधिकारी का आदेश पलट फर्जी माइनिंग  प्लान न केवल अधिकारियों से बनवाया बल्कि उसे पास कर नर्मदा का दोहन शुरु कर दिया। पत्रकारवार्ता में आरटीआई एक्टिविस्ट सिद्धार्थ गुप्ता ने यह कह कर सनसनी मचा दी कि कटनी जिले में भाजपा विधायक मोती कश्यप के पुत्र अब्बू कश्यप और कांग्रेस विधायक तरुण भनोत मिलकर अवैध रेत उत्खनन कर रहे हैं। संजय यादव का आरोप है कि बरगी विधानसभा क्षेत्र में स्थानीय विधायक प्रतिभा सिंह और उनके पुत्र जनपद अध्यक्ष गोलू सिंह द्वारा नर्मदा के घाटों में पोकलेन मशीन, हाई-फाई डिवाइस से रेत निकाली जा रही है। कांग्रेस नेताओं का आरोप है कि मध्यप्रदेश सरकार की नई रेत नीति केवल एक दिखावा है क्योंकि  ग्राम पंचायतों की खदानों पर स्थानीय दबंगों द्वारा कब्जा कर लिया गया है।

/ Madhya_Pradesh      Apr 20 ,2018 17:54