अत्याचार पीड़ित महिलाओं को क़ानूनी सहायता देगा जस्टिस लीग / Madhya_Pradesh

अत्याचार पीड़ित महिलाओं को क़ानूनी सहायता देगा जस्टिस लीग

@lionnews.in

भोपाल।  वॉच लीग संस्था अत्याचार पीड़ित महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए अब उसे क़ानूनी सहायता प्रदान करेगी। लीग द्वारा इस बाबत जस्टिस लीग नाम से  महिला अधिवक्ताओं का एक पेनल बनाया गया है ,जो पीड़ित महिलाओं के लिए निःशुल्क क़ानूनी लड़ाई लड़ेगा। यह जानकारी वाच लीग संस्था की संयोजक चंदना सी अरोरा द्वारा एक पत्रकार वार्ता में दी गई है।        

अरोरा ने बताया की यह लीग उन महिला अधिवक्ताओं को भी सुरक्षा प्रदान करेगा ,जो पीड़ित महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए अकेली संघर्ष कर रही है।  पेनल भोपाल में कार्यरत प्रत्येक महिला अधिवक्ताओ से जुड़ा होगा। यह पेनल अधिवक्ता अजय गुप्ता को प्रीति रघुवंशी की आत्महत्या मामले के केस को सहयोग प्रदान करेगा। साथ ही भोपाल में हाल ही में सीनियर सब रजिस्ट्रार के साथ कार्य क्षेत्र में घटित अपराध पर भी जस्टिस लीग ने चर्चा कर पीड़ित को न्याय दिलवाने का संकल्प लिया।

जस्टिस लीग की अधिवक्ताओं को म प्र बाल आयोग के अध्यक्ष श्री राघवेंद्र शर्मा,पूर्व डी जी पी श्री एन के त्रिपाठी, वरिष्ठ पत्रकार श्री एन के सिंह, राष्ट्रिय एकता परिषद के श्री रमेश शर्मा द्वारा सम्बोधित किया गया। इस अवसर पर पूर्व डीजीपी  त्रिपाठी ने कहा की अधिवक्ताओं की जस्टिस लीग प्रॉसिक्यूशन पर नज़र रखे और सुनुश्चित करे की न्यायलय की  कार्यवाही न्याय की ऒर हो। वरिष्ठ पत्रकार एन के सिंह ने कहा की इस वक्त बच्चों एवं महिलाओं के न्याय के लिए लड़ने वाले लीग की बहुत आवश्यकता है। इन मामलों में मीडिया की भी जिम्मेदारी अहम् है।                    

    पेनल में शामिल महिला अधिवक्ताओं के साथ चर्चा में मप्र बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष राघवेंद्र सिंह ने कहा की जस्टिस लीग के माध्यम से महिला शक्ति उभर कर सामने आएगी। लीग द्वारा महिलाओं के साथ साथ बच्चों से जुड़े मामलों में भी प्रतिनिधित्व करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा की बच्चों से जुड़े कई कानूनों को बदलने की जरुरत है ,इसके लिए वाच लीग संस्था को आगे आकर काम करना होगा। इस अवसर पर महिला अधिवक्ताओं ने बाल आयोग को भरपूर सहयोग देने का संकल्प लिया।

/ Madhya_Pradesh      Apr 12 ,2018 14:42