मुख्यमंत्री के जिलें का किसान हो रहा परेशान...जानियें क्या है कारण / Madhya_Pradesh

मुख्यमंत्री के जिलें का किसान हो रहा परेशान...जानियें क्या है कारण

@lionnews.in

विदिशा। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के क्षेत्र में चना, मसूर एवं सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी 10 अप्रैल से शुरू होनी थी। इस खरीदी को लेकर नाफेड के सर्वेयर भी आ गए हैं। नाफेड के सर्वेयर द्वारा तय एफएक्यू के तहत जिले में चना और मसूर सहित सरसों की खरीदी होगी। किसानों मे कई दिनों से चना मसूर की खरीदी न होने से असमंजस हैं। इस खरीदी को लेकर उपार्जन केन्द्रों पर की जाने वाली तैयारियों की समीक्षा बैठक कलेक्टर कक्ष में रखी जा चुकी हैं। इस बैठक में खरीदी से जुड़े विभागों सहित नाफेड के सर्वेयर भी मौजूद रहे। कलेक्टर अनिल सुचारी ने इस बैठक में कहा कि चना उपार्जन कार्य के लिए 14 परिसरों में 46 उपार्जन केन्द्र के तहत खरीदी होगी। कलेक्टर सुचारी ने उपार्जन केन्द्रों पर नियुक्त किए गए सर्वेयरों से बेहिचक अपने कार्यों करने को कहा। सर्वेयरों सहित धागाए स्टेनशील की उपलब्धता निर्धारित तारीख तक नहीं होने के कारण चना मसूर की खरीदी अब सम्भवताह 12 अप्रैल से शुरू हो पाएगी। जिले में चल रही समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी में तुलाई में लेटलतीफी हो रही है। किसान कई कई दिनों से उपज लेकर केंद्रों पर अपनी बारी के इंतजार में परेशान हो रहे हैं। जिले में सोमवार तक 1 लाख 18 हजार 670 मीट्रिक टप गेहूं की खरीदी हो चुकी है, जबकि परिवहन 93 हजार 857 मीट्रिक टन गेहूं का हुआ है। 21 प्रतिशत खरीदा हुआ गेहूं केंद्रों पर खुले में पड़ा हुआ है। 

/ Madhya_Pradesh      Apr 11 ,2018 04:20