सेवानिवृति की आयु बढ़ाना युवाओं के साथ कुठाराघात- बेरोजगार सेना सीधी / Madhya_Pradesh

सेवानिवृति की आयु बढ़ाना युवाओं के साथ कुठाराघात- बेरोजगार सेना

सीधी!जन अधिकार संगठन के प्रदेश महासचिव युवा मोर्चा एवं बेरोजगार सेना के फाउंडर मेंबर विद्याचरण शुक्ला ने प्रेस विज्ञापित कर सूचना दी कि सरकारी नौकरियों में सेवानिवृति की उम्र 2 वर्ष बढाए जाने को लेकर 6 अप्रैल 2018 को अप्सरा रेस्टोरेंट, पॉलिटेक्निक चौराहा, भोपाल में बेरोजगार सेना द्वारा प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की गयी। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बेरोजगार सेना प्रमुख अक्षय हुँका ने कहा कि मध्यप्रदेश में बेरोजगारी की समस्या चरम पर है। पिछले 2 वर्षों में प्रदेश में बेरोजगारी 53% बढ़ी है, प्रदेश में हर दिन 2 युवा बेरोजगारी के कारण आत्महत्या कर रहे हैं। सरकार न ही युवाओं को रोजगार दिलाने में सफल हो पायी है और न ही स्वरोजगार की ठीक से व्यवस्था कर पायी है। सभी सरकारी परीक्षाओ में घोटाला हो रहा है, वो MPPSC की prelim परीक्षा हो, अपेक्स बैंक भर्ती परीक्षा रद्द करने की बात हो, पटवारी परीक्षा में normalization के नाम पर हो रही गड़बड़ हो या कोई अन्य परीक्षा, हर परीक्षा में धांधली हो रही है। रोजगार की इतनी बुरी स्थिति होने के बाद भी सरकार ने सेवानिवृति की आयु बढाकर युवाओं के साथ धोका किया है। वैसे ही सरकारी भर्तियां बेहद कम निकल रही हैं और उस पर सरकारी नौकरियों में सेवानिवृति की उम्र 60 से बढ़ाकर 62 कर दी गयी है, यह निर्णय पूरी तरह युवा विरोधी है। सरकार ने प्रदेश के 1.5 करोड़ युवाओं के साथ धोका किया है। चंद वोटों की खातिर करोड़ों युवाओं के सपनों को तोडा है। बेरोजगार सेना इसका पुरजोर विरोध करती है। वहीं जन अधिकार संगठन के प्रेदेश सचिव एवं बेरोजगार सेना के फाउंडर मेंबर राम चरण सोनी ने कहा कि जब इस युवा विरोधी कानून को लाने के बारे में चर्चा चल रही थी तब से ही बेरोजगार सेना ने इसका विरोध प्रारम्भ कर दिया था। बजट सत्र के एक दिन पहले ही गांधीवादी तरीके से वित्तमंत्री श्री जयंत मलैया के बंगले का घेराव कर उम्र नहीं बढाए जाने की मांग की थी। इस कारण ही बजट सत्र के दौरान यह निर्णय नहीं लिया गया था। बाद में अचानक से इसकी घोषणा कर दी गयी। बेरोजगार सेना प्रमुख अक्षय हुँका ने कहा कि पूरे प्रदेश के युवा इस निर्णय से बेहद नाराज हैं और सरकार इस निर्णय को तुरंत वापस ले। उन्होंने घोषणा की है कि यदि इस निर्णय को 2 सप्ताह के अंदर वापस ले नहीं लिया गया तो वे 20 अप्रैल से अनिश्चित कालीन अनशन पर बैठ जाएंगे। साथ ही उन्होंने बताया कि इस निर्णय के खिलाफ वे 20 अप्रैल तक पूरे प्रदेश में दौरा कर युवाओं को एकत्र करेंगे। इस आंदोलन को विचार मध्यप्रदेश, जन अधिकार संगठन सहित अनेक युवा संगठनों का समर्थन प्राप्त है। बेरोजगार सेना ने इस आंदोलन से जुड़ने के लिये मिस्ड कॉल नंबर 9285400639 भी जारी किया है बेरोजगार सेना द्वारा की गई बैठक में बेरोजगार सेना के सदस्य एवं जन अधिकार संगठन के प्रदेश सचिव राम चरण सोनी जी,प्रदेश महासचिव युवा मोर्चा विद्याचरण शुक्ला जी, जिलाध्यक्ष डॉ ओम प्रकाश शुक्ला जी,दीपक पनिका जी ,अजय मिश्रा जी ,शरद गौतम जी,एवं युवा साथी उपस्थित रहे!
सीधी / Madhya_Pradesh      Apr 06 ,2018 13:30