व्हाट्सएप पर आया आदेश और हट गई नाथूराम गोडसे की मूर्ति / Madhya_Pradesh

व्हाट्सएप पर आया आदेश और हट गई नाथूराम गोडसे की मूर्ति

@lionnews.in
ग्वालियर। मध्यप्रदेश सरकार की पिछले सात दिनों से लगातार किरकिरी हो रही थी। व्हाट्सएप पर आये एक आदेश ने आखिर नाथूराम गोडसे की मूर्ति लगाने के विवाद को पटाक्षेप कर दिया। महज तीन घंटे में कागजी खानापूर्ति हुई।  प्रशासन ने हिंदू महासभा के कार्यालय में घुसकर नाथूराम गोडसे की मूर्ति जब्त कर थाने पहुंचा दिया।
               कलेक्टर के आदेश से पहले ही एसडीएम विजयराज व एएसपी दिनेश कौशल भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। इसके बाद व्हाट्सएप पर कलेक्टर आदेश की प्रति पहुंचा दी गई। समय-सीमा समाप्त होते ही एसडीएम ने निगम कर्मियों की मदद से कमरे का ताला तोड़कर गोडसे की प्रतिमा को जब्त कर कोतवाली थाने पहुंचा दिया। जिला प्रशासन की इस कार्रवाई के विरोध में नारेबाजी कर आक्रोश व्यक्त कर रहे कपिल भारद्वाज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। प्रतिमा हटते ही आधा सैकड़ा के लगभग युवक बाइकों पर ढोल-ताशे बजाते हुए हिमस कार्यालय के सामने से निकले।
                   दिनभर का घटना क्रम कुछ इस प्रकार रहा कि एडीएम के नोटिस से ‘ाुरू हुआ इसके अनुसार हिमस नेता डॉ. जयवीर भारद्वाज ने दोपहर एक बजे एडीएम के समक्ष जवाब प्रस्तुत किया। दोपहर तीन बजे कलेक्टर राहुल जैन ने हिमस नेताओं का पक्ष सुनने के बाद प्रतिमा हटाने के आदेश जारी कर दिए। आदेश में सिर्फ एक घंटे की मोहलत हिमस के पदाधिकारियों को दी गई थी। समय सीमा खत्म होते ही पुलिस ने बलपूर्वक कार्रवाई करते हुए प्रतिमा को अपने कब्जे में ले लिया।

/ Madhya_Pradesh      Nov 21 ,2017 16:37