छाऊ नृत्य की प्रस्तुति देख किया तालियों से उत्साहवर्धन / Madhya_Pradesh

छाऊ नृत्य की प्रस्तुति देख किया तालियों से उत्साहवर्धन

@lionnews.in
भोपाल। मध्यप्रदेश जनजातीय संग्रहालय में प्रसिद्ध छाऊ कलाकार जन्मेजय साईं बाबू के पुत्र और शिष्य राजेश साईं बाबू और उनके साथी कलाकारों के साथ छाऊ समूह नृत्य की प्रस्तुति दी। सभागार में नृत्य देश कर दर्शकों ने करतल ध्वनि से सभी कलाकारों का उत्साहवर्धन किया।

शुरुआत नटराज नृत्य रूप की एकल प्रस्तुति से हुई, जिसमें भगवान शिव को दर्शाते हुए सृजनए संरक्षण और विनाश को बड़ी ही खूबसूरती से नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत किया गया। इसके पश्चात उन्होंने ‘दांडीश् नृत्य रूप की प्रस्तुति दीद्य दांडी नृत्य रूप छाऊ नृत्य की एक विधा है जिसमें संसारिक जीवन को त्याग कर सन्यास धारण करने वाले व्यक्ति के मनोभावों को नृत्य के माध्यम से रूपायित कर प्रस्तुत किया जाता है। इसके पश्चात उनके द्वारा गीता के कृष्ण अर्जुन संवाद को नृत्य के माध्यम से प्रस्तुत किया गया कि कैसे भगवान कृष्ण अपनी ईश्वरीय शक्ति से अर्जुन को परिचित करवाते हैं और अर्जुन को अपने धर्मनिष्ठ कर्तव्य को पूरा करने का निर्देश देते हैं। प्रस्तुति के अंत में युद्धाभ्यास की कला को नृत्य संरचनाओं में रूपांतरण के माध्यम से प्रस्तुत कर उन्होंने अपने समूह नृत्य को विश्राम दिया।
कार्यक्रम के दौरान सभागार में उपस्थित सुधि श्रोताओं और दर्शकों ने करतल ध्वनि से सभी कलाकारों का उत्साहवर्धन किया।

/ Madhya_Pradesh      Nov 19 ,2017 15:16