भावांतर पर अब राघवजी भाई ने खड़े किये सवाल, कहा योजना न व्यावहारिक, न ही सार्थक Bhopal / Madhya_Pradesh

भावांतर पर अब राघवजी भाई ने खड़े किये सवाल, कहा योजना न व्यावहारिक, न ही सार्थक

@lionnews.in
केवल कृष्ण त्रिपाठी, भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व वित्त मंत्री राघवजी भाई ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा हैं। इस पत्र में भावांतर योजना का जिक्र हैं। भाईजी ने कहा है कि किसान भाव के अंतर की राशि के भुगतान को लेकर असमंजस में हैं। पत्र में योजना के सुधार की बात कही हैं। भावांतर योजना पर पूर्व वित्त मंत्री द्वारा सुधार की बात कहीं न कहीं सवाल खड़े करती है। यह पत्र उस समय सामने आया है जब देश के राष्टपति रामनाथ कोविंद प्रदेश की राजधानी भोपाल में है।
            मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री राघवजी भाई ने भावांतर भुगतान योजना में सुधार की आवश्यकता का जिक्र मुख्यमंत्री शिवराज को लिखे पत्र में किया है। राघव जी के अनुसार योजना के अंतर की राशि के भुगतान को समझने में असमंजस हैं। भाईजी के मुताबिक योजना न तो सरल है और न ही व्यवहारिक है जिसके चलते यह सार्थक नहीं है। योजना में सुधार की गुंजाईश  है। उन्होंने शिवराज को सुझाव देते हुए लिखा हैं कि योजना जिस जिले की मंडी में कृषि उपज बेची जाए, उसी जिले की दो बड़ी मंडियों में उस कृषि उपज की औसत क्रम मूल्य की गणना उसी दिन की जाए। गणना के तहत प्रति क्विंटल उपज के औसत क्रम मूल्य से समर्थन मूल्य के अंतर की राशि विक्रेता-किसान के बैंक खाते में दूसरे दि नही जमा कर दी जाए। प्रत्येक कृषि उपज पर प्रति क्विंटल जो भावांतर राशि किसानों को दी जाए, वहीं उसी दिन मंडी में सूचना पटल पर स्पष्ट रूप  से प्रदर्शित की जाए। इन तीन सुझावों के साथ राघवजी भाई ने नसीहत भी दी है लिखा है कि न्याय देर से मिले तो वह न मिलने जैसा हो जाता है।

Bhopal / Madhya_Pradesh      Nov 10 ,2017 04:52