अनुसूचित जाति वर्ग के पीड़ित लोगों को पात्रतानुसार राहत दिलाएं - उपाध्यक्ष राष्ट्रीय अनुसूचित जाति / Madhya_Pradesh

अनुसूचित जाति वर्ग के पीड़ित लोगों को पात्रतानुसार राहत दिलाएं - उपाध्यक्ष राष्ट्रीय अनुसूचित जाति

@lionnews.in
भोपाल:  राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष एल मुरूगन ने स्थानीय व्हीआईणपीण गेस्ट हाउस में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर अनुसूचित जाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत पीड़ित परिवारों को दी जा रही राहत की समीक्षा की। बैठक में प्रमुख सचिव अनुसूचित जाति कल्याण आशीष उपाध्यायए आयुक्त अनुसूचित जाति कल्याण दीपाली रस्तोगीए एडीजी पुलिस अनुसूचित जाति एसण्एलण्थाउसेनए कलेक्टर सुदाम खाडेए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह व संयुक्त आयुक्त एमएलत्यागी सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।
   राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष मुरूगन ने उपस्थित अधिकारियों से कहा कि अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों को संरक्षण देने के लिए अनुसूचित जाति अत्याचार निवारण अधिनियम बनाया गया है। इसके तहत पीड़ित परिवार को आर्थिक राहत दिलाने के साथ साथ अत्याचार करने वाले के विरूद्ध सख्त दण्डात्मक कार्यवाही करने का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि अधिनियम के प्रावधानों के तहत पीड़ित परिवारों को समय सीमा में राहत दिलाई जाये तथा दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाये।  बैठक में बताया गया कि प्रदेश सरकार ने अनुसूचित जाति वर्ग के कल्याण के लिये अनेकों योजनायें संचालित की हैं। इस वर्ग के विद्यार्थियों के लिए प्रदेश में 571 जूनियर हॉस्टलए 1164 सीनियर हॉस्टलए महाविद्यालय स्तर के विद्यार्थियों के लिए  189 छात्रावास तथा 20 ज्ञानोदय आवासीय विद्यालय संचालित हैं।
   एडीजी पुलिस अनुसूचित जाति श्री थाउसेन ने बताया कि प्रदेश के सभी 51 जिलों में अनुसूचित जाति कल्याण पुलिस थाने स्थापित हैं जिनमें उप पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी, प्रभारी के रूप में पदस्थ किए गए हैं। प्रदेश के विभिन्न जिलों में अनुसूचित जाति अत्याचार अधिनियम संबंधी मुकदमों की सुनवाई के लिए विशेष न्यायालय स्थापित हैं।

/ Madhya_Pradesh      Sep 07 ,2017 13:55