मोदी सरकार जल्द ला सकती है IMS Bhopal / Madhya_Pradesh

मोदी सरकार जल्द ला सकती है IMS

lionnews.in / लॉयन न्यूज … भोपाल। केंद्र का निति आयोग देश में बिगड़ती स्वास्थ्य सेवाओं के लिए गंभीर है। आयोग ने आईएएस और आईपीएस की तर्ज पर काम करने वाले आईएमएस अफसर की सिफारिश केंद्र सरकार को सौंपी है। इस रिपोर्ट में साफ कहा गया है कि देश की स्वास्थ्य सेवाएं ठीक नहीं है। राज्यों में स्थिति ओर भी गंभीर हैं। आयोग ने सुधाव के तौर पर कहा है कि बेहतर होगा अलग प्रशासनिक अधिकारियों की नियुक्ति की जाए। नीति आयोग का कहना है कि हेल्थ का मामला सीधे तौर से राज्यों से जुड़ा हुआ है। ऐसे में केंद्र सरकार इस मामले में राज्य स्तर पर ज्यादा हस्तक्षेप नहीं कर सकती। यही कारण है कि केंद्र सरकार से सिफारिश की गई है कि वह हेल्थ मिनिस्टी के जरिये राज्यों को पत्र लिखकर एआईएमएस की नियुक्ति पर राय मांगे। नये कैडर पर विचार करे। जिसके चले राज्यों में अच्छी स्वास्थ्य सेवाओ को सुचारू रूप से संचालित किया जा सके। डॉक्टर्स और मेडिकल डिग्री प्राप्त युवा इस परीक्षा के लिए एलिजिबल होगें। इसकी एक उम्र तक सीमा तय होगी। एआईएमएस एग्जाम आईएएस के पैटर्न पर होगा। जो भी इस परीक्षा हो पास करेगा, उसको टेनिंग दी जाएगी। जो वेतन भत्ते आईएएस और आईपीएस अधिकारियों को दिये जाते है, उसी के अनुरूप् आठएमएस के लिए वेतन भत्तें तय किए जाएंगे। आईएमएस का काम होगा राज्यों में स्वास्थय संबंधी सेवाओं पर नजर रखना। स्वास्थय सेवाओं का मैनेजमेंट बेहतर करने की जिम्मेदरी उनकी होगी। इस बारे में अपने सुझाव देना और उसकी बेहतरी के लिए काम करना। आई एमएस एक तरह से केंद्र और राज्य के बीच सेतु का काम करेंगे।
Bhopal / Madhya_Pradesh      Jul 16 ,2017 17:27