रेत माफिया और पुलिस की मिली भगत का आडियों कांग्रेस ने किया जारी / Madhya_Pradesh

रेत माफिया और पुलिस की मिली भगत का आडियों कांग्रेस ने किया जारी

lionnews.in / लॉयन न्यूज … भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के गृह जिलें बुधनी में रेत खनन बेखाफ हो रहा हैं। सन्नाटे में रात दो बजे के बाद नर्मदा के किनारे जेसीबी और मजदूरों से गाड़ी भराई का काम किया जाता है। माफिया बेखाफ होगर पुलिस से माल को निकालने की सेटिग कर लेते है। यह सब इस आड़ियों को सुनने के बाद समझ में आ रहा है। ऐसे दो आड़ियों मध्यप्रदेश कांगेेस ने जारी किये है। इतना ही नहीं इस आड़ियों में एक मास्साब का नाम आया है। जिसे कांग्रेस मुख्यमंत्री का भाई का नाम होने का दावा कर रही है और मुख्यमंत्री से पांच प्रश्न पुछ कर उनके जवाब का इंतजार कर रही है। ये है। कांग्रेस के पांच सवाल 1. ऑडियों में टी.आई. रेत माफिया से प्रति डंपर पांच हजार रूपये की मांग करते हुए यह भी कह रहे हैं कि मुझे बड़े अधिकारियों को भी पैसा देना पड़ता है, वे साहसी अधिकारी कौन है, जो मुख्यमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र में ही खुलेआम डकैती कर रहे हैं? 2. टीआई का यह कहना कि अब ‘‘मकोडिया से रेत का परिवहन करने वाले वाहनों की आवाजाही भी बंद करूंगा’’ यानि उत्खनन बंद करने के आपके आदेश के बाद भी नर्मदा के घाटों से रेत का अवैध उत्खनन जारी है ? 3. ऑडियों में जिस मास्साब (मास्साब-यानी नरेन्द्रसिंह चौहान) का उल्लेख आया है, क्या वे आपके ही सगे भाई है? 4. ऑडियों में टी.आई. इसी जिले में पदस्थ एसडीओपी को भी पैसे दिये जाने की मांग करते हुए न केवल सुनाई दे रहे हैं, बल्कि उनका परिचय भी दे रहे है कि वे पहले अमुख थाने के टी.आई. भी रह चुके हैं। मुख्यमंत्री जी, अब प्रश्न यह उठता है कि जो एसडीओपी कुछ दिनों पूर्व उसी क्षेत्र में टी.आई. के रूप में पदस्थ था, पदोन्नति के बाद वह उसी क्षेत्र के एसडीओपी के रूप में किस ‘‘तपस्या और साधना’’ के जरिये वहीं पदस्थ हुआ? 5. मुख्यमंत्री जी, करोड़ों रूपये के राजस्व कोष को लुटाकर आपके द्वारा 11 दिसम्बर, 16 से 15 मई, 17 से निकाली गई 144 दिवसीय ‘‘नर्मदा सेवा यात्रा’’ जो पूरी तरह राजनैतिक यात्रा थी, उसमें ‘‘यात्रा’’ शब्द का उल्लेख किया गया, जबकि ‘‘माँ नर्मदा’’ की यात्रा नहीं, ‘‘परिक्रमा’’ की जाती है, यात्रा माँ ‘‘गंगा’’ की होती है। लिहाजा, इस गंभीर चूक को लेकर आपके धार्मिक सलाहकार कौन-कौन थे? आडियों यहा सुने : - http://www.lionnews.in/audio/AUD-20170715-WA0043.aac
/ Madhya_Pradesh      Jul 15 ,2017 16:51