प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के नाम पर बढ़ रहा भ्रष्टाचार, लाभार्थियों से वसूला जा रहा रुपया Bhopal / Madhya_Pradesh

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के नाम पर बढ़ रहा भ्रष्टाचार, लाभार्थियों से वसूला जा रहा रुपया

सोनभद्र(ब्यूरो)–अजीत कुशवाहा... lionnews.in / लॉयन न्यूज … ‘सबका साथ सबका विकास’ का नारा भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा, ‘नाम बड़े दर्शन छोटे’ वाली कहावत को चरितार्थ होता देखा जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी के योजना के नाम पर हजारों हजार रुपए की वसूली जैसा कि आपको मालूम होगा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत उन गरीब परिवारों को गैस सिलेंडर देने का काम किया जा रहा था, जिनका पहले से कोई गैस कनेक्शन न हो और जो मजबूर लाचार इस योजना का लाभ लोगों तक नि:शुल्क पहुंचाने की बात की जा रही थी लेकिन आइए आज आपको सोनभद्र जिले में रेणुकूट के लोगों से रूबरू कराते हैं, क्या इस प्रधनमंत्री उज्ज्वला योजना का लाभ लोगो को निशुल्क मिल पाया है| कई लाभान्वित महिलाओं से बात करने पर यह सामने आया कि इनसे एक कनेक्शन पर किसी से 2000 हजार रुपये किसी से तीन हजार रुपये मनचाहा रकम वसूल किया गया है| एक तरफ मोदी जी योजनाओ को सफल बनाने में जुटे हुई है । तो दूसरी तरह भ्रष्ट कर्मचारी जो खुलेआम जनता को लूट रहे है और सरकार की योजनाओं को बदनाम करने का भी कम कर रहे है । एक महिला का आरोप है कि हमसे योजना के नाम पर 2000 हजार रुपये मांगा गया था और हमें यह बताया गया था कि यह पैसा सरकारी कोटे में जमा किया जाएगा, उसके बाद ही गैस सिलेंडर मिल पाएगा और यही बताया गया कि आपका पैसा वापस आ जाएगा| आपके खाते में लेकिन न पैसा वापस आया और न ही सिलेंडर खत्म होने के बाद दोबारा मिलने का कोई आशा ही दिखा दे रही है| भारत गैस एजेंसी के ऑफिस पर जाने पर उपस्थित कर्मचारी द्वारा हमें यह बताया गया कि आपको सिलेंडर नहीं मिल पाएगा क्योंकि आपका नाम कंप्यूटर में नहीं शो कर रहा है, जिसके लिए आपको 1500 रुपये लगभग खर्च करने होंगे । एक अंधी महिला देखा जाए तो इसका कोई सहारा नहीं है पति वृद्धावस्था में है, लड़का जिसकी दिमागी हालत सही नहीं रहती और एक लड़की है जिसके भरोसे पूरे परिवार का जीवन यापन हो पा रहा है इस महिला ने बताया कि कृष्ण सिंह नाम के भारत गैस एजेंसी के कर्मचारी द्वारा हमसे 2000 हजार रुपये मांगा गया था और हमें यह बताया गया था तुम्हारे नाम का सिलेंडर आ गया है और हमारे घर में रखा हुआ है, जिसका 2000 हजार रुपये लगेगा जो कि कंप्यूटर में भी चढ़ गया है| ऐसे में उस बृद्ध महिला ने उस कर्मचारी से पैसे का अभाव में निवेदन किया लेकिन उस घूसखोर कर्मचारी ने इस वृद्ध महिला की एक न सुनी और योजना के साथ मिलने वाली सुविधा से वंचित कर दिया गया । एक और महिला चंद्रा देवी ने बताया- सूची में नाम होना होने पर हमसे 2000रु लिया गया और हमें बताया गया कि 2000 रुपये सरचार्ज है, जिसको जमा करने पर आप की सूची में नाम आ जाएगी और आपको भी प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत मिलने वाले गैस सिलेंडर का लाभ मिल पाएगा। इसी प्रकार ऐसे ही आरोप और भी कई महिलाओं ने लगाये जिसके बाद भारत गैस एजेंसी मालिक से बात करने पर उन्होंने बताया कि इस मामले की हमें कोई जानकारी नहीं है और अगर ऐसा है तो हम जल्द से जल्द जांच कर के मामले की जानकारी कर ऐसे भ्रष्ट कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कारवाई करेंगे, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा और जिन-जिन लोगों से अवैध तरीके से वसूली की गई है, उन्हें उनका पैसा वापस कराया जाएगा।
Bhopal / Madhya_Pradesh      Jul 15 ,2017 04:28