लालघाटी-एयरपोर्ट के मध्य बनेगा फ्लाईओवर, देवास बायपास होगा 6-लेन / Madhya_Pradesh

लालघाटी-एयरपोर्ट के मध्य बनेगा फ्लाईओवर, देवास बायपास होगा 6-लेन

lionnews.in / लॉयन न्यूज … भोपाल : मंत्रालय में मध्यप्रदेश राज्य सड़क सुरक्षा क्रियान्वयन समिति की बैठक सम्पन्न हुई। इसकी अध्यक्षता अपर मुख्य सचिव गृह के. के. सिंह ने की। बैठक में लालघाटी-एयरपोर्ट के मध्य फ्लाईओवर, देवास बायपास रोड को 6-लेन बनाने का काम 20 जुलाई के बाद शुरू करने सहित सड़क सुरक्षा से संबंधित विभिन्न विषयों पर चर्चा की गई। पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्ला ने बैठक में कई महत्वपूर्ण सुझाव दिये। बैठक में जिला-स्तरीय समिति में पुलिस अधीक्षक को उपाध्यक्ष बनाने का निर्णय लिया गया। साथ ही संभागीय एवं जिला मुख्यालय पर समिति की बैठक नियमित करने के निर्देश दिये गये। बैठक में बताया गया कि कक्षा 4 और 7 के पाठ्यक्रम में सड़क सुरक्षा विषय का समावेश पहले से किया गया है। संचालक लोक शिक्षण द्वारा राज्य शिक्षा केन्द्र (एनसीआरटी) भोपाल को सड़क सुरक्षा पर जागरूकता विषय को स्कूली शिक्षा के पाठ्यक्रम में शामिल करने के लिये पत्र लिखा है। इसी के साथ सभी जिला शिक्षा अधिकारी को स्कूल बस तथा स्कूल वैन चालकों को जिला सड़क सुरक्षा समिति के माध्यम से समन्वय कर एक दिवसीय प्रशिक्षण देने के निर्देश दिये गये हैं। बताया गया कि 32 ट्रॉमा-सेन्टर कार्यशील हैं और 43 की बिल्डिंग तैयार की जा चुकी है। निर्देश दिये गये कि ट्रॉमा-सेन्टर के माध्यम से बचाये गये लोगों की संख्या की अद्यतन स्थिति बतायें। बैठक में यातायात प्रवर्तन कार्यवाही के तहत यातायात जिला इकाई के थानों में पदस्थ सहायक उप पुलिस निरीक्षक तक के अधिकारी को चालानी कार्यवाही करने का अधिकार देने पर सहमति बनी। बताया गया कि जिला इंदौर में ड्रायविंग लायसेंस ट्रेक सेन्टर का निर्माण हो चुका है और 37 जिलों के आफिस में इसके लिये ट्रेक बनकर तैयार हैं। प्रदेश में 192 ड्रायविंग स्कूल संचालित है। प्रदेश में पिछले 4 साल में 45 हजार 429 भारी वाहन चालकों को प्रशिक्षण दिया गया है। साथ ही परिवहन अधिकारियों को प्रत्येक मंगलवार को उनकी अधिकारिता में 50 यान चालकों को प्रशिक्षण देने के निर्देश दिये गये है। बिना हेलमेट धारण किये दो पहिया वाहन चालकों के विरुद्ध 15 अप्रैल से 30 जून तक विशेष अभियान प्रदेश में चलाया गया। अभियान के दौरान वाहन चालकों के 1 लाख 96 हजार 561 चालान बनाकर 4 करोड़ 91 लाख 85 हजार शमन शुल्क वसूला गया। इसी प्रकार 11 मार्च से 11 जून तक बिना हेलमेट धारण किये दो पहिया वाहन चालाकों के विरुद्ध 2 लाख 34 हजार 521 चालान बनाकर 6 करोड़ 38 लाख 24 हजार 800 रुपये शमन शुल्क वसूल किया गया। इसी अवधि में नाबालिग वाहन चालाकों के विरुद्ध 277 चालान बनाकर 3 लाख 86 हजार 300 रुपये शमन शुल्क वसूल किया गया है। बताया गया कि सभी कलेक्टर-पुलिस अधीक्षक को बीआईएस नार्म्स के हेलमेट का राज्य में विक्रय होने संबंधी निर्देश जारी किया है। शराब पीकर वाहन चलाने वाले चालकों के विरुद्ध 19 जून से 9 जुलाई तक 4 हजार 726 चालान बनाकर न्यायालय पेश किये गये और 556 प्रकरण ड्रायविंग लायसेंस निलंबन के लिये परिवहन अधिकारी की ओर भेजे गये हैं। राज्य सड़क सुरक्षा क्रियान्वयन समिति में आबकारी विभाग का नोडल अधिकारी नियुक्त करने बैठक में सहमति बनी। बैठक में मवेशियों के कारण होने वाली दुघर्टना को रोकने के लिये ग्राम पंचायत-स्तर से गाँव वालों के लिये जागरूकता अभियान चलाने का सुझाव दिया गया। बैठक में प्रमुख सचिव परिवहन एस.एन. मिश्रा, परिवहन आयुक्त शैलेन्द्र श्रीवास्तव, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सचिव कवीन्द्र कियावत, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक विजय कटारिया उपस्थित थे।
/ Madhya_Pradesh      Jul 14 ,2017 15:16