दुकानदारों ने निकाले GST से बचने के उपाये / delhi

दुकानदारों ने निकाले GST से बचने के उपाये

नई दिल्लीः हमारे देश में कैसी भी समस्या हो हल करने की व्यवस्था हो ही जाती हैं इसे भारतीय उपाये और जुगाड़ का नाम देते है। इसे साधारण तोर पर अदृश्य ही माना जाये तो अच्छा है। यह ऐसी व्यवस्था है जो दिखती तो नहीं, पर हो जाती है। जीएसटी पर भले ही विपक्ष केंद्र सरकार की आलोचना कर रहा हो और कुछ व्यापारी इसका विरोध कर रहे हों लेकिन कई ऐसे दुकानदार हैं जो जीएसटी का अजीबो-गरीब तोड़ निकाल रहे हैं।। देश के दुकानदार इसकी जुगाड़ खोजने में लगें है। जीएसटी लागू हुए अभी 10 दिन भी नहीं हुए पर हमारे देश के कई दुकानदारों ने इससे बचने का रास्ता निकाल लिया है। ताजा जानकारी के अनुसार जीएसटी से बचने के लिए कई दुकानदार एक जोड़ी जूते को अलग-अलग करके बेच रहे हैं और इसके लिए दो अलग-अलग बिल भी बना रहे हैं। सीए और जीएसटी एक्सपर्ट संगीत गुप्ता के मुताबिक दुकानदारों के ऐसे करने पर देश का नुकसान हो रहा है। 500 रुपए से कम के फुटवेयर पर 5 फीसदी जीएसटी लगाया गया है जबकि उससे अधिक कीमत के फुटवेयर पर 18 फीसदी टैक्स लगाया गया है। दरअसल यह सब पुराने स्टॉक पर टैक्स बचाने के लिए यह हो रहा है। ताकि उन्हें 18 प्रतिशत टैक्स न चुकाना पड़े। मान लीजिए अगर एक जोड़ी जूते की कीमत 900 रुपए है तो वे अलग-अलग 450-450 रुपए के बिल बना रहे। इस पर उन्हें 10 फीसदी ही टैक्स देना पड़ रहा है। इस तरह चेन्नई के कुछ दुकानदार 8 फीसदी टैक्स बचा रहे हैं। दुकानदार भले ही अपने फायदा देख रहे हैं लेकिन इससे देश को नुकसान हो रहा है। इतना ही इससे अम लोगों पर भी असर पड़ा रहा है क्योंकि उन्होंने भुगतान तो पूरा किया लेकिन मुनाफा दुकानदार ले गए। जीएसटी की वजह से महंगी हुई जिन वस्तुओं की बिक्री जुलाई स्टॉक से हो रही है, रिटेलर्स उन्हें जून के स्टॉक का बता रहे है और जून स्टॉक की सस्ती हुई वस्तुओं की बिक्री को वो जुलाई स्टॉक का बता रहे हैं। 1,000 रुपए से कम कीमत के कपड़ों पर पर 5 फीसदी जीएसटी तय किया गया और उससे अधिक की कीमत पर 12 फीसदी जीएसटी लगेगा। इन्हें दो हिस्सों में बेचें तो इस पर भी दुकानदार टैक्स बचा रहे हैं। विदेश जाने की चाह रखने वालों पर जीएसटी असर डाल सकता है क्योंकि विदेश जाने से पहले आप जो विदेशी नोट खरीदते हैं, उसके लिए अब आपको ज्यादा पैसे देने होंगे। दरअसल, अगर सरकार ने कस्टम विभाग के पक्ष में फैसला दिया तो विदेशी मुद्रा के आयात पर 12 फीसदी जीएसटी लगेगा। बैंकों ने सरकार से इस पर छूट की
/ delhi      Jul 09 ,2017 11:33