भय्यू महाराज की आत्महत्या और नर्मदा किनारे 600 करोड़ से ज्यादा का घपला...  क्या है कनेक्शन? Bhopal / Madhya_Pradesh

भय्यू महाराज की आत्महत्या और नर्मदा किनारे 600 करोड़ से ज्यादा का घपला... क्या है कनेक्शन?

@lionnews.in

KKT, भोपाल। मध्यप्रदेश सरकार की जैसे ही कुछ साधु संतो को राज्यमंत्री का दर्जा देने की बात सामने आई उसी समय से सरकार को साधु संतो ंके द्वारा ब्लेकमेल करने की बाते भी सामने आने लगी। भय्यू महाराज एक मात्र ऐसे संत थें जिन्होंने सबसे पहले राज्यमंत्री का दर्जा लेने से इंकार कर दिया था। सूत्र की माने तो संत भय्यू महाराज उस समय से ही कुछ तनाव में आ गये थे। जब उनको राज्यमंत्री पद का दर्जा दिये जाने की बात सामने आई थी। याद कीजिये कुछ दिनों पहले छपी खबरों को । हम याद दिलाते है। कम्पयूटर बाबा को राज्यमंत्री का दर्जा मिला। दैनिक समाचार पत्रों ने कम्पयूटर बाबा को कुछ महिनों पहले दिये बयानों को याद दिला दिया जिसमें उन्होंने कहा था कि नर्मदा किसाने पोधों की गिनती और सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर करके रहगे जैसे बयान दिये थे। उसके बार शिवराज सरकार ने कम्पयूटर बाबा को राज्यमंत्री का दर्जा दे दिया था।

इसे भी पढ़े : -

न्याय का देवता शनि की शनि उपासक पर कुदृष्टि, एक आॅडियो और एक वीडियों आया सामने       

                दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित समाचार के अनुसार समाचार पत्र का सूत्र बता रहा है। कि संत भय्यू महाराज के पास भी सीएम द्वारा नर्मदा किनारे 600 करोड़ से ज्यादा के 16 लाख पेड़-पौधे लगाने में काफी घपला हुआ है। इसकी जानकारी एनजीओ ने मय प्रमाण के भय्यू महाराज तक पहुंचाई थी। इस पर उन्होंने सीएम से चर्चा भी की थी। संभवतः इसी के बाद से वे काफी तनाव में थे। बताया जाता है इसी के बाद सरकार ने संतों को राज्यमंत्री का दर्जा देने की बात कही थी, जिसमें भय्यू महाराज का भी नाम था।

           अब संत भय्यू महाराज की आत्महत्या कांग्रेस के गले के नीचे नहीं उतर रही। कांग्रेस सीबीआई जांच की मांग कर रही है। एक सवाल यह जरूर उठ रहा है कि संत ने जब अपने आप को गोली मारी घर में तमाम लोग उपस्थित थें गोली की आवाज किसी ने नही सूनी? ऐसा कैसे संम्भव है। भय्यू महाराज की आत्महत्या और नर्मदा किनारे 600 करोड़ से ज्यादा के घपला एक रहस्य बना हुआ है। कांग्रेस की मांग सीबीआई जांच की मांग की है। इस संस्था की कमान केंन्द्र सरकार के पास है। केन्द्र में मोदी सरकार है। 

इसे भी पढ़े : -

भाजपा की विकास यात्रा के दौरान महिला सचिव के साथ अभद्रता

किसा आत्महत्य करन SP दफ्त पहुंचा सा मे  पूर परिवार

तलवारबाजी में स्वर्ण पदक विजेता खिलाड़ियों ने की खेल संचालक से भेंट

पृथक विंध्य प्रदेश आन्दोलन लिये युवाओं की हुई बैठक

कांग्रेस की न्याय यात्रा में भी अन्याय

आलोक बोले.मोदी के नेतृत्व में विश्व में बढ़ा देश का सम्मान

मप्र में बदले समीकरण इसलिए बसपा के भी जागे अरमान

कांग्रेस की न्याय यात्रा का पथरिया में हुआ भव्य स्वागत

Bhopal / Madhya_Pradesh      Jun 13 ,2018 06:38