बिजली उत्पादन का सबसे सस्ता यंत्र MP में इन्होंने बनाऊंगा, जानिये ...कौन है यह ? Bhopal / Madhya_Pradesh

बिजली उत्पादन का सबसे सस्ता यंत्र MP में इन्होंने बनाऊंगा, जानिये ...कौन है यह ?

@lionnews.in

तोशिफ / छिदवाडा. मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ग्राम पंचायत रजोला के होनहार युवक और छात्र रंजीत विश्वकर्मा ने बिजली उत्पादन करने का एक ऐसा यंत्र बनाया है जो मध्यप्रदेश में पहला होगा। इतना ही नही यह यंत्र सबसे सस्ता भी हो। छात्र रंजीत ने ड्रोन हवाई जहाज सहित अनेक चीजें बनाई हैं। कहावत तो सही है कि हुनर के आगे शिक्षा किस तरह से बोनी साबित हो सकती है इसकी मिशाल एक छोटे छोटे गांव में देखने को मिली।जिला छिंदवाड़ा के सिगोडी ग्राम के समीप में स्थित ग्राम पंचायत रजोला के निवासी रंजीत विश्वकर्मा जो कि पांचवी कक्षा तक की अपनी पढ़ाई शासकीय स्कूल में की है पढ़ाई के नाम पर इनको सिर्फ अपना नाम लिखना आता था। रंजीत विश्वकर्मा के कई कारनामें बड़े बड़े वैज्ञानिकों को भी मात देने वाले है ।एक छोटे से गांव रजोला में पांचवी की पढ़ाई के बाद कारपेंटर का काम करने वाले रंजीत एक दिन जब घर में खाना खाने बैठे तो प्रेशर कूकर की सीटी से आवाज आई और भाप निकली तो तभी इनके दिमाग में बैठे बैठे बिजली बनाने का आइडिया आ गया।

फिर क्या था घर में पड़े कबाड़ की मदद से टंकी में भाप बनाकर टरबाइन घुमाकर बिजली बनाने का यंत्र इन्होंने बना डला जिसमें 6 लीटर पानी की क्षमता वाले यंत्र में मक्के की ठूठ की सहायता से आग जलाकर इतनी बिजली बनाई जा सकती है कि उसमें 1 घंटे तक 9 वॉट का एलईडी बल्व जलाया जा सकता है।अगर बिजली यंत्र एक हजार लीटर पानी की क्षमता का बनाया जा सकता है तो 50 हॉर्सपॉवर तक की बिजली बनाई जा सकती है ऐसी अनेक बातो को रंजीत विश्वकर्मा ने लोगो को बताया।6 लीटर पानी की क्षमता वाले यंत्र मैं मक्के की ठूट की सहायता से आग जलाकर उसी यंत्र से एक 9 वॉट कि एलईडी बल्ब जलाकर संजीत ने दिखा दिया कि गरीबी में पले बढ़े रंजीत कुछ भी कर सकता है जब खराब खिलौने मिलते थे तो उनको खोलकर ठीक करना और फिर उनसे ही शौक पूरा करने की आदत भी इन्हें थी फिर वो आदत धीरे धीरे अविष्कार में बदल गई और रंजीत ने हवाई खेती के कई औजार के अलावा हवाई जहाज ड्रोन बिजली यंत्र जैसी कई चीजें बना डाली ।हालांकि उनका मानना यह है कि अगर बिजली यंत्र 1 हजार लीटर क्षमता का बनाया जाए तो 50 हॉर्सपॉवर तक की बिजली बनाई जा सकती है और सरकार उनकी मदद करे तो वे गांवों में कम खर्चे में बिजली की समस्या भी खत्म कर सकते हैं। और लोगो को सुविधाये भी मिल जायेगी।

Bhopal / Madhya_Pradesh      Feb 08 ,2018 17:23